Monsoon Rain Update: जून महीने में मानसून की बारिश मौसम को बना देगी सुहावना, इन 7 राज्यों में हो सकती है कम बारिश

By Vikash Beniwal

Published on:

देश के अधिकांश हिस्सों में प्रचंड गर्मी पड़ रही है जिससे लोग परेशान हैं। इसी बीच भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने राहत भरी खबर दी है कि इस साल देशभर में सामान्य से अधिक मानसूनी बारिश होने की संभावना है। आईएमडी के अधिकारियों का कहना है कि मानसून का असर उत्तर और पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों में कम देखने को मिल सकता है जिससे यहां गर्मी का सितम जारी रह सकता है।

देशभर में सामान्य से अधिक बारिश का अनुमान

आईएमडी चीफ मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि जून से सितंबर के बीच देशभर में सामान्य से अधिक बारिश का अनुमान है। उन्होंने बताया कि दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत उत्तर पश्चिम भारत में सामान्य बारिश होने की संभावना है। उनके अनुसार, इन क्षेत्रों में लंबी अवधि का औसत (एलपीए) 92 से 108 प्रतिशत बारिश हो सकती है, जो सामान्य श्रेणी में आती है। हालांकि, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में सामान्य से कम बारिश की संभावना है।

पूर्वोत्तर राज्यों में कम बारिश का अनुमान

महापात्र के अनुसार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल के गंगा क्षेत्र, दक्षिण छत्तीसगढ़ और पूर्वोत्तरी राज्यों के अनेक हिस्सों में सामान्य से कम बारिश हो सकती है। उन्होंने कहा कि वर्षा पर आधारित कृषि क्षेत्र में बारिश सामान्य से अधिक होने की संभावना है। इसमें राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, झारखंड और ओडिशा के हिस्से शामिल हैं।

बारिश का अनुमान

मौसम विभाग के अनुसार अगर बारिश एलपीए का 90 प्रतिशत से कम होती है तो उसे कम बारिश माना जाता है। 90 से 95 प्रतिशत के बीच वर्षा को सामान्य से नीचे 96 से 104 प्रतिशत के बीच सामान्य और 105 से 110 प्रतिशत के बीच सामान्य से अधिक बारिश मानी जाती है।

देश के अन्य हिस्सों में अधिक बारिश

महापात्र ने बताया कि लंबे समय के तहत एक जून से 30 सितंबर के बीच पूरे देश में औसतन 87 सेंटीमीटर बारिश होती है। उन्होंने कहा कि मध्य भारत और दक्षिण प्रायद्वीप में सामान्य से ज्यादा बारिश होने की संभावना है। इन क्षेत्रों में एलपीए का 94 से 106 प्रतिशत बारिश हो सकती है।

मानसून का इंतजार

महापात्र ने कहा कि दक्षिण पश्चिम मानसून बंगाल की खाड़ी के दक्षिण और पूर्व मध्य के अधिकतर हिस्सों तक बढ़ गया है। अगले पांच दिनों के दौरान मानसून के दक्षिण अरब सागर के कुछ और हिस्सों में, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी के कुछ हिस्सों तथा बंगाल की खाड़ी और पूर्वोत्तरी राज्यों के कुछ हिस्सों की ओर बढ़ने की अनुकूल स्थितियां नजर आ रही हैं।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.