home page

योगी सरकार की नई योजना से 18.47 लाख महिलाओं को होगा सीधा फायदा, महिला सशक्तिकरण की तरफ बड़ा कदम

राज्य सरकार ने ग्रामीण महिलाओं की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने और उन्हें स्वावलंबी बनाने की दिशा में एक महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है।
 | 
up-news-yogi-government-plans

राज्य सरकार ने ग्रामीण महिलाओं की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने और उन्हें स्वावलंबी बनाने की दिशा में एक महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है। अगले तीन वर्षों में 18.47 लाख ग्रामीण महिलाओं को लखपति बनाने का लक्ष्य तय किया गया है। इस प्रयास से न केवल इन महिलाओं की वार्षिक आय में वृद्धि होगी, बल्कि उनके जीवन स्तर में भी सुधार होगा।

उत्तर प्रदेश का साहसिक कदम 

प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देश में दो करोड़ महिलाओं की वार्षिक आय एक लाख रुपये से अधिक पहुंचाने के लक्ष्य को साकार करने के लिए, उत्तर प्रदेश ने इस लक्ष्य का 14 प्रतिशत हिस्सा उठाने का बीड़ा उठाया है। 10.45 लाख स्वयं सहायता समूह की महिलाओं की वार्षिक आय को एक लाख या उससे अधिक पहुंचाने के लक्ष्य को पूर्ण किया गया है, जिससे इन महिलाओं की आर्थिक स्थिति में महत्वपूर्ण सुधार हुआ है।

विशाल सर्वेक्षण और लक्ष्य निर्धारण 

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ने पिछले वर्ष स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी 75 लाख महिलाओं का आय के स्रोतों का सर्वे किया। सर्वे के आधार पर पाया गया कि यूपी में 10.46 लाख महिलाएं लखपति महिला की श्रेणी में आती हैं, और 18.47 लाख सदस्यों की वार्षिक आय रुपये 61 हजार से एक लाख रुपये के बीच है। यह सर्वेक्षण महिलाओं की आर्थिक स्थिति और उनकी आजीविका के स्रोतों को समझने में मदद करता है।

आजीविका सुधार के लिए योजनाएँ 

राज्य ग्रामीँ आजीविका मिशन की मिशन निदेशक द्वारा बताया गया कि महिलाओं की वार्षिक आय को एक लाख या उससे अधिक पहुंचाने के लिए नए सिरे से सर्वे करके उनकी आजीविका के प्लान को महिलाओं की मंशा के अनुसार तैयार किया जा रहा है। इसमें कृषि आजीविका, गैर कृषि आजीविका, टेक होम राशन प्लांट, बैंक सखी, विद्युत सखी, आजीविका सखी, बकरी पालन, मुर्गी पालन, दुग्ध विकास संबंधित गतिविधियाँ शामिल हैं।