home page

योगी सरकार ने बेरोजगार युवाओं के लिए खोले रोजगार के दरवाजें, रोजगार देने से जुड़े होंगे ये खास काम

योगी सरकार ने यूपी के युवा लोगों को नौकरी देने के लिए एक नया कदम उठाया है। योगी सरकार ने डिजास्टर मैनेजमेंट का मास्टर डिग्री शुरू करने का निर्णय लिया है।
 | 
Yogi government opened doors of employment for unemployed youth

योगी सरकार ने यूपी के युवा लोगों को नौकरी देने के लिए एक नया कदम उठाया है। योगी सरकार ने डिजास्टर मैनेजमेंट का मास्टर डिग्री शुरू करने का फैसला लिया है। युवाओं को इस पाठ्यक्रम से आपदा प्रबंधन क्षेत्र में नौकरी मिलेगी। इसके अलावा, जलवायु परिवर्तन से जुड़ी चुनौतियों का सामना करने की क्षमता भी युवाओं में विकसित होगी।

उत्तर प्रदेश जलवायु परिवर्तन का सबसे अधिक प्रभावित राज्य है, इसलिए योगी सरकार का यह कदम महत्वपूर्ण है। यहां बाढ़, सूखा, अतिवृष्टि, वज्रपात और क्लाउड बर्स्ट की संख्या बढ़ती जा रही है। इनसे न केवल आम लोगों की जिंदगी पर बल्कि बिजली, सड़क, रेल, खेती, वायु और जल परिवहन पर भी बुरा असर पड़ता है। इनसे निपटने के लिए एक सक्षम, तैयार सेना की जरूरत है।

एमबीए डिजास्टर मैनेजमेंट कोर्स कैसे प्राप्त करें?

योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय परिषद (UPRTOU) को डिजास्टर मैनेजमेंट का पाठ्यक्रम शुरू करने का आदेश दिया है। इस पाठ्यक्रम को अगले सत्र से शुरू किया जाएगा। इस पाठ्यक्रम के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक योग्यता निम्नलिखित है:

  • आवेदक को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी क्षेत्र में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • आवेदक अंग्रेजी का ज्ञाता होना चाहिए।
  • ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड में आवेदन करना आवश्यक है।
  • एमबीए के लिए आवेदक को प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा।
  • आवेदक को डिजास्टर मैनेजमेंट का दो वर्ष का एमबीए पाठ्यक्रम पूरा करना होगा।
  • आवेदक को एमबीए के अंतिम साल में डिजास्टर मैनेजमेंट में एक प्रोजेक्ट कार्य करना होगा।

एमबीए डिजास्टर मैनेजमेंट पाठ्यक्रम का लाभ

एमबीए डिजास्टर मैनेजमेंट का कोर्स करने के कई लाभ हैं, जिनमें से कुछ हैं:

यह कोर्स युवा लोगों को आपदा प्रबंधन क्षेत्र में काम करने के कई अवसर देता है। युवाओं को सरकारी और निजी संस्थाओं में आपदा प्रबंधक, आपदा एनालिस्ट, आपदा कोऑर्डिनेटर, आपदा रिस्पॉन्स टीम लीडर, आपदा रिस्क मैनेजर, आपदा रिकवरी ऑफिसर, आपदा रिहैबिलिटेशन आदि पदों पर नियुक्त करना