home page

UP में इस जगह बनकर तैयार हुआ वर्ल्ड क्लास रेल्वे स्टेशन, अब इस रेल्वे स्टेशन पर मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं

छह साल के इंतजार के बाद गोमतीनगर वर्ल्ड क्लास स्टेशन का सपना साकार होने जा रहा है। जो कभी दो पैसेंजर ट्रेनों के ठहराव के लिए मात्र एक हाल्ट था, वह अब पांच प्लेटफॉर्म वाला एक विशाल स्टेशन बन चुका है।
 | 
Gomti nagar railway station redeveloped

छह साल के इंतजार के बाद गोमतीनगर वर्ल्ड क्लास स्टेशन का सपना साकार होने जा रहा है। जो कभी दो पैसेंजर ट्रेनों के ठहराव के लिए मात्र एक हाल्ट था, वह अब पांच प्लेटफॉर्म वाला एक विशाल स्टेशन बन चुका है। इसे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का पहला विश्व स्तरीय स्टेशन (First World-Class Station) कहा जा रहा है, जो रेल भूमि विकास प्राधिकरण (RLDA) द्वारा अगले एक हफ्ते में रेलवे को सौंपा जाएगा।

विकास की नींव और निर्माण

तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) ने गोमतीनगर हाल्ट को स्टेशन बनाने की योजना की नींव रखी थी। इस प्रोजेक्ट के तहत चार नए प्लेटफॉर्म का निर्माण किया गया, और बाद में विभूतिखंड की ओर छह नंबर प्लेटफॉर्म भी जोड़ा गया। 21 मई 2018 को इस परियोजना को स्वीकृति मिली और इस पर करीब 385 करोड़ रुपये का खर्चा आया।

आधुनिक सुविधाएँ और वाणिज्यिक ब्लॉक

स्टेशन पर 14 लिफ्ट और 13 एस्केलेटर यात्रियों के लिए होंगे। यात्रा और खरीदारी (Travel and Shopping) का आनंद उठाने के लिए दो कॉमर्शियल ब्लॉक विकसित किए गए हैं, जिनमें 12 लिफ्ट और 8 एस्केलेटर हैं। डबल बेसमेंट की पार्किंग व्यवस्था के साथ, इन ब्लॉकों में भूतल और चार मंजिला का निर्माण किया गया है।

गोमती नगर स्टेशन एक नए युग का आगाज

एयरपोर्ट की तर्ज पर बनकर तैयार हुआ गोमती नगर रेलवे स्टेशन अब 'अटल बिहारी वाजपेयी रेलवे स्टेशन' के नाम से जाना जाएगा। इसकी खासियत यह है कि पूरा स्टेशन एयरकंडीशंड (Air-Conditioned) रहेगा। 15 फरवरी को रेल भूमि विकास प्राधिकरण इसे पूर्वोत्तर रेलवे को सौंप देगा, जिससे इसका लोकार्पण (Inauguration) संभव हो सकेगा।