home page

Wine Beer: शराब पीने के बाद कुछ लोगों को सिर में होने लगता है दर्द, 5 ऐसे बातें तो शराब पीने से पहले आपको पता होनी चाहिए

Wine Beer: अक्सर शराब पीने के बाद होने वाले हैंगओवर (Hangover) को लेकर लोग परेशान रहते हैं। यह सिरदर्द, उल्टी और थकान जैसी समस्याओं का कारण बनता है।
 | 
after drinking alcohol

Wine Beer: अक्सर शराब पीने के बाद होने वाले हैंगओवर (Hangover) को लेकर लोग परेशान रहते हैं। यह सिरदर्द, उल्टी और थकान जैसी समस्याओं का कारण बनता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर यह समस्या होती क्यों है? आइए जानते हैं इसके पीछे के वैज्ञानिक कारणों को।

इथेनॉल है मुख्य कारक

शराब में मौजूद मुख्य घटक इथेनॉल (Ethanol) होता है, जो शरीर में जाकर विभिन्न रसायनों में परिवर्तित होता है। इथेनॉल के ये परिवर्तित रसायन सिरदर्द का कारण बनते हैं। इसके अलावा इथेनॉल शरीर से पानी की मात्रा को कम कर देता है, जिससे डिहाइड्रेशन (Dehydration) होता है और सिरदर्द की समस्या उत्पन्न होती है।

एल्डिहाइड है जहरीला प्रभाव

एल्कोहल के सेवन के बाद लिवर द्वारा एल्कोहल को एल्डिहाइड (Aldehyde) में परिवर्तित किया जाता है। यह एल्डिहाइड शरीर में जहर की तरह काम करता है और हैंगओवर की समस्या को बढ़ाता है। एल्डिहाइड के इस प्रभाव से सिरदर्द, उल्टी और चक्कर आने जैसी समस्याएं होती हैं।

शराब पीने से पहले हाइड्रेट रहें

यदि आप शराब पीने से पहले हाइड्रेटेड (Hydrated) नहीं हैं, तो शराब का सेवन आपके सिरदर्द का कारण बन सकता है। खाली पेट शराब पीने से इसका असर और भी जल्दी होता है और हैंगओवर की समस्या गहरा सकती है। इसलिए शराब पीने से पहले पर्याप्त पानी पीना चाहिए।

जींस की भूमिका

कुछ व्यक्तियों में हैंगओवर की समस्या अधिक देखी जाती है, जिसके पीछे उनके जीन्स (Genes) भी एक कारण हो सकते हैं। शराब के सेवन से ब्लड शुगर लेवल कम होता है, जिससे थकान और मूड स्विंग्स जैसी समस्याएं होती हैं।

हिस्टामाइन का प्रभाव

एल्कोहल में हिस्टामाइन (Histamine) रसायन होता है जो शरीर में सूजन और एलर्जी जैसी प्रतिक्रियाओं को बढ़ाता है। इसकी वजह से कई लोगों का चेहरा लाल, फूला हुआ और संवेदनशील हो जाता है।

इन सभी कारणों को समझने के बाद यह स्पष्ट हो जाता है कि शराब के सेवन के बाद सिरदर्द की समस्या कई जटिल कारणों से होती है। इसलिए शराब का सेवन सोच-समझकर और संयमित तरीके से करना चाहिए ताकि इससे होने वाली समस्याओं से बचा जा सके।