home page

ट्रेन में नीले और लाल रंग के कोच का क्या है असली कारण, होशियार लोग भी नही जानते ICF और LHB कोच के बीच अंतर

भारतीय रेलवे (Indian Railways) जो दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क (Rail Network) का गौरव रखती है, हर दिन करोड़ों यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाती है।
 | 
 ICF and LHB coaches

भारतीय रेलवे (Indian Railways) जो दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क (Rail Network) का गौरव रखती है, हर दिन करोड़ों यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाती है। इस विशाल नेटवर्क में आपने नीले और लाल रंग के डिब्बों को अवश्य देखा होगा। ये रंग न केवल विविधता प्रदर्शित करते हैं बल्कि विभिन्न कोच के बीच के अंतर को भी दर्शाते हैं।

ICF और LHB कोच

भारतीय रेलवे में मुख्य रूप से दो प्रकार के कोच (Coaches) सेवाएँ दे रहे हैं: ICF (Integral Coach Factory) और LHB (Linke Hofmann Busch)। ICF कोच जिनकी स्थापना 1952 में चेन्नई में हुई थी, भारी लोहे के बने होते हैं और इनका उपयोग लंबे समय से भारतीय रेलवे में किया जा रहा है। वहीं LHB कोच लेटेस्ट तकनीक और सुरक्षा मानदंडों के अनुरूप डिजाइन किए गए हैं, जो उन्हें यात्रियों के लिए अधिक सुरक्षित और आरामदायक बनाते हैं।

LHB कोच है सुरक्षा और आराम की गारंटी

LHB कोच जो स्टेनलेस स्टील (Stainless Steel) से निर्मित होते हैं, एंटीटेलीस्कोपिक डिजाइन (Anti-telescopic Design) के साथ आते हैं, जिससे ये दुर्घटना की स्थिति में भी एक-दूसरे के ऊपर नहीं चढ़ते। इसके अलावा, इनका कपलिंग सिस्टम (Coupling System) दो कोचों के बीच की सापेक्ष गति को कम करता है, जिससे दुर्घटनाओं के प्रभाव को कम किया जा सकता है। LHB कोच की गति और वहन क्षमता (Carrying Capacity) भी ICF कोच की तुलना में बेहतर होती है।

ICF कोच है पारंपरिक लेकिन मजबूत

ICF कोच जो लोहे से निर्मित होते हैं, उनकी कोडल लाइफ (Codal Life) 25 वर्ष होती है। इन कोचों का रखरखाव (Maintenance) अधिक खर्चीला होता है और इन्हें समय-समय पर ओवरहाल (Overhaul) की आवश्यकता होती है। हालांकि इनका उपयोग भारतीय रेलवे में व्यापक रूप से किया जाता है, खासकर उन रूट्स पर जहां अत्यधिक भार की आवश्यकता होती है।

कोच के रंगों का रहस्य

रेलवे में नीले और लाल रंग के कोचों का उपयोग, कोचों के प्रकार और उनकी सेवाओं को दर्शाता है। जहां नीले कोच आमतौर पर ICF कोचों को दर्शाते हैं, वहीं लाल रंग के कोच अक्सर LHB कोच होते हैं, जिन्हें प्रीमियम क्लास की ट्रेनों में उपयोग किया जाता है। इस प्रकार रंग न केवल आकर्षण का स्रोत हैं बल्कि ये तकनीकी उन्नति और सुरक्षा स्तर को भी दर्शाते हैं।