home page

भारत के मुकाबले पाकिस्तान में ई-रिक्शा का कितना है किराया, पाकिस्तान में जाते ही ई-रिक्शा का बदल गया है लुक

ई-रिक्शा (E-Rickshaw) जो भारत में आजकल एक आम परिवहन साधन (Common Mode of Transport) के रूप में उभरा है. अब पाकिस्तान की सड़कों पर भी खूब धमाल करता नजर आ रहा है।
 | 
 e rickshaw in pakistan

ई-रिक्शा (E-Rickshaw) जो भारत में आजकल एक आम परिवहन साधन (Common Mode of Transport) के रूप में उभरा है. अब पाकिस्तान की सड़कों पर भी खूब धमाल करता नजर आ रहा है। इस लेख में हम देखेंगे कि कैसे यह वाहन दोनों देशों में अपनी जगह बना रहा है।

पाकिस्तान में ई-रिक्शा की एंट्री

पाकिस्तान के विभिन्न शहरों (Cities) में ई-रिक्शा को एक पर्यावरण-अनुकूल (Eco-Friendly) और किफायती परिवहन के रूप में देखा जा रहा है। ये वाहन न केवल प्रदूषण (Pollution) को कम करने में मदद करते हैं, बल्कि छोटी दूरियों के लिए एक आरामदायक सवारी का ऑप्शन भी प्रदान करते हैं।

भारत और पाकिस्तान में ई-रिक्शा की डिजाइन

भारतीय ई-रिक्शा (Indian E-Rickshaw) की तरह ही पाकिस्तान में भी इनकी डिजाइन काफी समान होती है. लेकिन पूरी तरह से एक जैसी नहीं होती। इसमें स्थानीय जरूरतों (Local Needs) और पसंद के अनुसार कुछ बदलाव देखने को मिलते हैं।

किराये का अंतर

पाकिस्तानी रुपए (Pakistani Rupee) की भारतीय रुपए (Indian Rupee) के मुकाबले कम मूल्यवान होने के कारण पाकिस्तान में ई-रिक्शा का किराया भारत की तुलना में कम हो सकता है। हालांकि न्यूनतम किराये (Minimum Fare) के बारे में अभी तक कोई कन्फ़र्म जानकारी सामने नही आई है।

पाकिस्तान में ई-रिक्शा निर्माण

पाकिस्तान में ई-रिक्शा का निर्माण (Manufacturing) करने वाली कंपनियां इसे एक व्यवहार्य व्यवसाय (Viable Business) के रूप में देख रही हैं। साजगार इलेक्ट्रिक (Sazgar Electric), जो कि पाकिस्तान के पहले ई-रिक्शा निर्माताओं में से एक है, ने इस बाजार में मुख्य भूमिका निभाई है।