home page

UP News: उत्तरप्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने के लिए योगी सरकार ने करोड़ों के बजट को दी मंजूरी, आम जनता को मिलेगी ये खास सुविधाएं

उत्तर प्रदेश की जनता को बेहतर सेहत मिल सकेगी। इसके लिए लगभग 9 हजार करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्रस्तुत किए जाएंगे। चिकित्सा शिक्षा विभाग ने ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए उन प्रस्तावों का खाका बनाया है
 | 
up-news-to-improve-health-facilities

उत्तर प्रदेश की जनता को बेहतर सेहत मिल सकेगी। इसके लिए लगभग 9 हजार करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्रस्तुत किए जाएंगे। चिकित्सा शिक्षा विभाग ने ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए उन प्रस्तावों का खाका बनाया है,

जो काम शुरू होना चाहिए। इनमें इन्वेस्टर मीट में हुए एमओयू के अलावा बिना एमओयू वाले प्रस्ताव भी शामिल हैं। नए मेडिकल, नर्सिंग और पैरामेडिकल स्कूल बनाए जाएंगे। साथ ही राज्य में 42 हजार से अधिक लोगों को काम मिलेगा।

इस महीने राज्य में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (जीबीएस) होना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। निवेश प्रस्तावों में से जिनकी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं,


उनका अंतिम खाका तैयार हो रहा है। इसे भी चिकित्सा शिक्षा विभाग ने अंतिम रूप दिया है। विभाग को 322 प्रस्ताव मिले, जिनमें 40 हजार 643 करोड़ 40 लाख रुपये का निवेश था।

यह प्रस्ताव नए मेडिकल कॉलेजों, चिकित्सा विश्वविद्यालयों, नर्सिंग स्कूलों, पैरामेडिकल स्कूलों और डेंटल स्कूलों की स्थापना से संबंधित है। प्रदेश में इससे 1 लाख 21 हजार 337 लोगों को काम मिलेगा।

जीबीएस के लिए 285 प्रोजेक्ट तैयार

इनमें से 237 प्रस्ताव ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए तैयार हैं। इससे 7 604 करोड़ 82 लाख का निवेश और 36 281 नए रोजगार पैदा होंगे।

साथ ही, जीबीएस के लिए एमओयू के बिना 46 अतिरिक्त प्रस्ताव भी तैयार हैं। जिनमें 1279 करोड़ का निवेश प्रस्तावित है और लगभग 6 हजार नौकरियां पैदा होंगी।

इस प्रकार, जीबीएस के लिए विभाग के कुल 285 प्रोजेक्ट पूरी तरह से तैयार हैं। इनमें 8,897,820,000,000 का निवेश होगा। लेकिन 42 हजार 474 नौकरियां पैदा होंगी।

जिन प्रस्तावों में एमओयू नहीं है, उनमें से 16 नर्सिंग और पैरामेडिकल कॉलेजों के हैं। जबकि 25 मेडिकल कॉलेजों की उपस्थिति है।