home page

UP Govt Scheme: योगी सरकार ने दिव्यांग लोगों के लिए किया ये अनोखा काम, पेन्शन के साथ मिलेगी ये खास सुविधाएं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दिव्यांगों में अनंत प्रतिभा होती है। बस उसे तराशकर मंच देना होता है
 | 
Yogi government disabled

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दिव्यांगों में अनंत प्रतिभा होती है। बस उसे तराशकर मंच देना होता है। दिव्यांग लोग सरकार और समाज से प्रोत्साहन के हकदार हैं। ऐसे दिव्यांगों के साथ डबल इंजन सरकार खड़ी है। CM योगी ने दिव्यांगों को लेकर भी बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा, जिन दिव्यांगों के पास राशन कार्ड होगा, उन्हें पेंशन के साथ घर भी मिलेगा।

जल्द मिलेंगी ये सुविधाएं

पेंशन की राशि भी जल्द ही बढ़ाई जाएगी। अधिकारियों को अभियान चलाने का आदेश दिया गया है ताकि कोई भी दिव्यांग राशन कार्ड, आवास, पेंशन और शिक्षा से वंचित न रहे।

शनिवार को गोरखपुर के योगीराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में मुख्यमंत्री ने राज्यस्तरीय तीन दिवसीय दिव्य कला एवं कौशल प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह को संबोधित किया।

पेंशन को और बढ़ाया जायेगा

इस मौके पर उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में वर्तमान में 10.40 लाख दिव्यांगजनों को मासिक एक हजार रुपये की पेंशन दी जा रही है। धनराशि पहले 300 रुपये थी। आने वाले समय में इसे और बढ़ाया जाएगा।

मिलेगी मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल

उन्होंने कहा, स्कूल जाने वाले हर दिव्यांग व्यक्ति को मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल दी जाएगी। वर्तमान में प्रदेश में 11 हजार से अधिक कुष्ठरोगी है।

इन लोगो को मिलेगा आवास

जिन्हें मासिक तीन हजार रुपये की पेंशन दी जाती है। ऐसे लोगों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास की सुविधा अनिवार्य रूप से प्रदान करने के निर्देश दिए गए है।

योगी ने कहा कि आयुष्मान योजना में 15.53 लाख दिव्यांगजन शामिल हैं। कॉक्लियर इंप्लांट के लिए सरकार छह लाख रुपये दे रही है।

प्रदेश में दिव्यांगों के लिए 21 विशेष विद्यालय, 18 बचपन डे केयर सेंटर और तीन मानसिक मंदित आश्रय गृह भी संचालित हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ईश्वर के अवतरण की जमीन है।

आगे उन्होंने बताया की यह देश का पहला ऐसा राज्य है जहा दिव्यांगों के लिए सरकार द्वारा दो विश्वविद्यालय खोले गए हैं। लखनऊ में डॉ. शकुंतला मिश्रा दिव्यांग विश्वविद्यालय है, और चित्रकूट में जगद्गुरु रामभद्राचार्य दिव्यांग विश्वविद्यालय है।

मुसलमान दिव्यांग ने मानस की चौपाई सुनाई, मुख्यमंत्री ने प्रशंसा की

मुख्यमंत्री दिव्यांगों से मिलते हुए भावुक नजर आए। मुख्यमंत्री को प्रदर्शनी के दौरान एक स्टाल पर एक मुस्लिम समुदाय से आलम नामक एक दिव्यांग ने श्रीरामचरितमानस की चौपाई और श्लोक सुनाया।

मुख्यमंत्री जी ने Aalam की पीठ थप-थपाकर उसे शाबाशी दी। कार्यक्रम के बाद एक दिव्यांग युवा ने उन्हें गाना सुनाने की इच्छा व्यक्त की। मुख्यमंत्री भोजपुरी गीत सुनकर ही वहा से गए।