home page

UP Board Exam: यूपी की बोर्ड परीक्षाओं में नकल करने वालों की अब नही है खैर, योगी सरकार ने दिया ये बड़ा आदेश

उत्तर प्रदेश की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा दो शिफ्ट में 22 फरवरी से 9 मार्च 2024 तक होगी। सुबह 8.30 बजे से 11.45 बजे तक पहली शिफ्ट होगी
 | 
board exams in up

उत्तर प्रदेश की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा दो शिफ्ट में 22 फरवरी से 9 मार्च 2024 तक होगी। सुबह 8.30 बजे से 11.45 बजे तक पहली शिफ्ट होगी, जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 बजे से शाम 5.15 बजे तक होगी। योगी सरकार पूरी मुस्तैदी से यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को नकलमुक्त करने के लिए काम कर रही है। इसके लिए व्यापक तैयारी की गई है।

सरकार का पूरा ध्यान सुरक्षा व्यवस्था पर है। इसके लिए फूलप्रूफ योजना है, जिसमें स्ट्रॉन्ग रूम और उत्तर पुस्तिकाओं के कलेक्शन सेंटर की सुरक्षा शामिल है। एलआईयू की भी मदद ली जायेगी ताकि संवेदनशील और अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों की निगरानी की जा सके, और जिससे परीक्षा सुचारू रूप से संपन्न हो सके।

55 लाख से अधिक विद्यार्थी यूपी बोर्ड परीक्षा देंगे

2024 यूपी बोर्ड परीक्षा में 55,25,290 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया है। इनमें 10वीं बोर्ड परीक्षा में भाग लेने वाले 29,47,325 विद्यार्थी और 12वीं बोर्ड परीक्षा में भाग लेने वाले 5,77,965 विद्यार्थी शामिल हैं। साथ ही, बोर्ड ने राज्य भर में 8265 परीक्षा केंद्र बनाए हैं, जिनमें 566 राजकीय परीक्षा केंद्र, 3479 सवित्त परीक्षा केंद्र और 4220 वित्तविहीन परीक्षा केंद्र हैं।

सशस्त्र बल स्ट्रॉन्ग कमरे की निगरानी करेंगे

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि बोर्ड परीक्षा की सुरक्षा के लिए पुलिस प्रशासन की मदद से व्यापक तैयारी की गई है, जो सीएम योगी की मंशा के अनुरूप है। इसके अनुसार, स्ट्रॉन्ग रूम को सुरक्षित रखने के लिए अनिवार्य रूप से सशस्त्र बल की व्यवस्था की जा रही है, ताकि पेपर लीक या किसी अन्य तरह की सिक्योरिटी ब्रीच न हो सके। इसके अलावा, उत्तर पुस्तिका कलेक्शन सेंटर को भी सुरक्षा दी जा रही है।

लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) भी तैयार है

लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) राज्य के संवेदनशील या अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों की विशेष निगरानी करेगी। संवेदनशील और अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्र है जहा का पहले नकल या अन्य तरह की अव्यवस्था का रिकॉर्ड रहा है। इनको लेकर विशेष सावधानी बरती जाती है। यही कारण है कि बाह्य नकल को रोकने के लिए जिम्मेदार क्षेत्राधिकारी और थानाध्यक्ष की पेट्रोलिंग सुनिश्चित की जाएगी। इसके अलावा, बाधक तत्वों के खिलाफ संज्ञेय अपराध के अंतर्गत कार्यवाही और अनुचित मुद्रण या प्रकाशन और अफवाह पर कठोर कार्रवाई के लिए योजना बनाई गई है।

धारा 144 परीक्षा केंद्रों पर लागू हो सकती है

बोर्ड परीक्षाओं के दौरान जिला प्रशासन भी मुस्तैद रहेंगे। योजना के अनुसार, सेक्टर मजिस्ट्रेट और स्टैटिक मजिस्ट्रेट की नियुक्ति और प्रशिक्षण होगा, ताकि बोर्ड परीक्षाओं को सुरक्षित रूप से सम्पन्न किया जा सके। प्रशासन से अपील की गई है कि स्टैटिक मजिस्ट्रेट को बदला न जाए। परीक्षा केंद्रों ने नकल को नियंत्रित करने के लिए आवश्यकतानुसार धारा-144 लागू करने सहित अन्य उपायों पर सहमति बनी है। परीक्षा केंद्र के आसपास फोटो कॉपियर दुकानों पर भी रोक लगाई जाएगी, ताकि कोई भ्रम न हो।