home page

हरियाणा से दिल्ली का सफर होगा पहले से ज्यादा आरामदायक और तेज, एक्सप्रेसवे का 99 प्रतिशत काम हो चुका है पूरा

हरियाणा की साइबर सिटी गुरुग्राम और दिल्ली के बीच सफर करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। जल्द ही इस मार्ग पर ट्रैफिक जाम और आफिस जाने में होने वाली देरी की समस्याएं समाप्त हो जाएंगी।
 | 
dwarka-expressway

हरियाणा की साइबर सिटी गुरुग्राम और दिल्ली के बीच सफर करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। जल्द ही इस मार्ग पर ट्रैफिक जाम और आफिस जाने में होने वाली देरी की समस्याएं समाप्त हो जाएंगी। हिंदुस्तान का सबसे छोटा और अपनी तरह का पहला अर्बन एक्सप्रेसवे, द्वारका एक्सप्रेसवे, अगले सप्ताह से जनता के लिए खुल जाएगा।

सफर होगा मात्र 20 मिनट में तय 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने साझा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 11 मार्च को इस एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करेंगे। इस विकास पहल को गुरुग्राम और दिल्ली के लिए एक लाइफलाइन के रूप में देखा जा रहा है, जिससे दिल्ली और गुरुग्राम के बीच का सफर केवल 20 मिनट रह जाएगा।

हरियाणा के हिस्से में परियोजना पूरी होने की कगार पर

द्वारका एक्सप्रेसवे का गुरुग्राम सेक्शन जल्द ही आम जनता के लिए खोला जाएगा, जिसके लिए 99% काम पूरा हो चुका है। इस परियोजना के लिए NHAI से क्लीयरेंस प्राप्त करने की प्रक्रिया इसी सप्ताह में पूरी होने की उम्मीद है। वहीं, दिल्ली सेक्शन पर भी 90% कार्य संपन्न हो चुका है।

एक्सप्रेसवे का मार्ग और लंबाई

यह एक्सप्रेसवे दिल्ली के द्वारका से शुरू होकर गुरुग्राम के खेड़की दौला तक जाता है। कुल 18.9 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे का निर्माण 9 हजार करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इसे 4 चरणों में तैयार किया गया है, जिसमें 10.1 किलोमीटर दिल्ली में और 8.8 किलोमीटर हरियाणा में पड़ता है।

एक्सप्रेसवे की अनोखी खासियत 

इस 8 लेन एक्सप्रेसवे की विशेषताएँ इसे बेहद खास बनाती हैं। यहाँ वाहन या तो हवा में चलेंगे या फिर जमीन के अंदर, जो इसे एक रोमांचक अनुभव प्रदान करेगा। इस एक्सप्रेसवे का डिजाइन सिंगल पिलर पर आधारित है, और इसकी चौड़ाई 34 मीटर है। इसके अलावा, विशेष एंट्री और एक्जिट पॉइंट्स इसे सुरक्षित और संगठित बनाते हैं।