home page

सांप की मौसी के नाम से जानी जाती है ये अनोखी जीव, जो बिना नर के भी पैदा कर सकती है बच्चे

अक्सर हमारे आस-पास की दुनिया में कई रोचक और अनोखे जीव जन्तु होते हैं, जिनमें से कुछ के बारे में हम जानते हैं, तो कुछ अभी भी हमारे लिए एक रहस्य बने हुए हैं।
 | 
snakes-also-have-aunties

अक्सर हमारे आस-पास की दुनिया में कई रोचक और अनोखे जीव जन्तु होते हैं, जिनमें से कुछ के बारे में हम जानते हैं, तो कुछ अभी भी हमारे लिए एक रहस्य बने हुए हैं। ऐसे ही एक अनोखे जीव का नाम है बभनी, जिसे आमतौर पर सांप की मौसी के रूप में जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम स्किंक है, जो रेप्टाइल प्रजाति के अंतर्गत आता है। इसकी उपस्थिति सांप और छिपकली के मिश्रण जैसी होती है, जो इसे एक विशिष्ट और दिलचस्प जीव बनाती है।

सांप से अलग कैसे?

बभनी की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता इसके पैर होते हैं, जो सांप से इसे अलग करते हैं। इसकी स्पीड और चाल छिपकली से मिलती-जुलती है, लेकिन इसका शरीर संरचना और त्वचा की बनावट सांप जैसी होती है। यह विशेषता इसे अन्य रेप्टाइल्स से भिन्न बनाती है और इसी कारण लोग इसे सांप की मौसी कहकर पुकारते हैं।

एक अनोखी प्रजनन प्रक्रिया

बभनी की एक और अनूठी विशेषता इसकी प्रजनन क्षमता में निहित है। यह जीव बिना नर के भी बच्चे पैदा कर सकता है, जो वास्तव में एक दुर्लभ और विशेष जैविक घटना है। कनाडा की मैक्वायर यूनिवर्सिटी में किए गए शोध के अनुसार मादा बभनी मेटिंग के बाद स्पर्म को अपने शरीर में स्टोर कर सकती है और बिना नर के भी साल भर से ज्यादा समय तक बच्चे पैदा कर सकती है। यह विशेषता इसे प्रकृति की अद्भुत कृतियों में से एक बनाती है।

भारत में बभनी की प्रजातियाँ

भारत विविधताओं का देश है, और यहाँ बभनी की 62 प्रजातियाँ पाई जाती हैं, जो जूलॉजी सर्वे ऑफ इंडिया के अनुसार है। इनमें से अधिकतर प्रजातियाँ केवल भारत में ही पाई जाती हैं, जो इसे एक विशेष भूगोलिक और पारिस्थितिकीय महत्व प्रदान करती हैं। इसकी चमकदार और मुलायम त्वचा जो छिपकली की त्वचा से भी अधिक चमकीली होती है, इसे और भी अनूठा बनाती है।