home page

भारत में इस राज्य के पास है सबसे ज्यादा ट्रेनें, 9000 किलोमीटर से भी ज्यादा फैला हुआ है रेल्वे पटरियों का जाल

भारतीय रेलवे (Indian Railways) अपनी विशालता और यात्री संख्या के लिए विश्वभर में जाना जाता है। यह तथ्य कि भारत में हर दिन ऑस्ट्रेलिया
 | 
irctc-this-state-of-india-has-the-highest

भारतीय रेलवे (Indian Railways) अपनी विशालता और यात्री संख्या के लिए विश्वभर में जाना जाता है। यह तथ्य कि भारत में हर दिन ऑस्ट्रेलिया (Australia) की कुल जनसंख्या के बराबर लगभग ढाई करोड़ लोग ट्रेन से यात्रा करते हैं, जो की हैरान कर देने वाला है। इस विशाल संख्या को समझना किसी के लिए भी मुश्किल हो सकता है, लेकिन यह एक निर्विवाद सच्चाई है।

रेलवे की विशेषताएँ

भारतीय रेलवे को अक्सर देश की लाइफ लाइन (Lifeline) कहा जाता है क्योंकि यह यात्रा का एक सुरक्षित (Safe), सुविधाजनक (Convenient), और सस्ता (Affordable) माध्यम प्रदान करता है। रेल नेटवर्क (Rail Network) के मामले में भारत विश्व में चौथे स्थान पर है, जिससे पहले केवल अमेरिका (USA), रूस (Russia) और चीन (China) हैं।

उत्तर प्रदेश है रेलवे नेटवर्क का गढ़

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) अपने लम्बे चौड़े रेलवे नेटवर्क के लिए प्रसिद्ध है, जो 9077.45 किलोमीटर लंबा है। यह नेटवर्क इसे भारत के अन्य हिस्सों से जोड़ता है, और लखनऊ (Lucknow) का चारबाग रेलवे स्टेशन (Charbagh Railway Station) इसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जहाँ प्रतिदिन 300 से अधिक ट्रेनें गुजरती हैं।

चारबाग रेलवे स्टेशन का इतिहास और वास्तुकला

चारबाग रेलवे स्टेशन की स्थापना 1914 में हुई थी और इसे 1923 में बनाया गया था। इसका डिजाइन ब्रिटिश आर्किटेक्ट (British Architect) द्वारा बनाया गया था और इसके निर्माण में भारतीय इंजीनियरों ने भी अहम योगदान दिया। स्टेशन राजपूत (Rajput), अवधी (Awadhi) और मुगल (Mughal) वास्तुशिल्प प्रभावों का एक सुंदर मिश्रण प्रदर्शित करता है।

कानपुर सेंट्रल है एक और व्यस्त हब

कानपुर सेंट्रल (Kanpur Central) रेलवे स्टेशन भी भारतीय रेलवे के महत्वपूर्ण स्टेशनों में से एक है, जहाँ प्रतिदिन 280 से अधिक ट्रेनें गुजरती हैं। इस स्टेशन का उद्घाटन 1930 में हुआ था और यह अपने 10 प्लेटफॉर्म (Platforms) के साथ यात्रियों की भीड़ को संभालता है।