home page

अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए वरदान से कम नही है ये योजना, मिलती है ये खास सुविधाएं

आज के समय में जब चारों ओर महिलाओं के साथ अत्याचार (Women Harassment) की खबरें आम हैं, यह जरूरी हो जाता है कि महिलाएं जहां भी हों, सुरक्षित (Safe) महसूस करें। चाहे वह ट्रेन हो या बस, हर जगह महिलाओं की सुरक्षा एक प्रमुख चिंता (Major Concern) है।
 | 
अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए वरदान से कम नही है ये योजना

आज के समय में जब चारों ओर महिलाओं के साथ अत्याचार (Women Harassment) की खबरें आम हैं, यह जरूरी हो जाता है कि महिलाएं जहां भी हों, सुरक्षित (Safe) महसूस करें। चाहे वह ट्रेन हो या बस, हर जगह महिलाओं की सुरक्षा एक प्रमुख चिंता (Major Concern) है। इसी कड़ी में सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए विभिन्न योजनाएं (Schemes) लाई जाती हैं। "मेरी सहेली" योजना इन्हीं प्रयासों का एक भाग है, जो विशेष रूप से ट्रेन में यात्रा करने वाली महिलाओं के लिए तैयार की गई है।

किन महिलाओं को मिलेगा फायदा

"मेरी सहेली" योजना (Meri Saheli Scheme) सभी उन महिलाओं को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखती है जो ट्रेन में यात्रा करती हैं, विशेष रूप से उन महिलाओं को जो अकेले सफर करती हैं। यह योजना उन्हें एक विशेष सुरक्षा कवच (Special Protection) प्रदान करती है, ताकि वे बिना किसी डर या चिंता के अपनी यात्रा का आनंद उठा सकें।

महिला यात्रियों की सुरक्षा

"मेरी सहेली" योजना के तहत महिला यात्रियों (Female Passengers) की सुरक्षा के लिए एक विशेष टीम तैनात की जाती है जो पूरी तरह से महिलाओं पर आधारित होती है। यह टीम ट्रेन में अकेले यात्रा कर रही महिलाओं की पहचान करती है और उनसे संपर्क करके उनके सुरक्षित रहने की सुनिश्चितता (Ensure Safety) करती है। इसमें उनसे उनकी यात्रा के बारे में सवाल-जवाब किए जाते हैं और उनकी सुरक्षा से जुड़ी किसी भी प्रकार की चिंता या समस्या का समाधान किया जाता है।

टोल फ्री नंबर की सुविधा

यदि महिला यात्रियों को यात्रा के दौरान कोई परेशानी (Trouble) उत्पन्न होती है, तो वे टोल फ्री नंबर 182 पर शिकायत दर्ज (Complaint) कर सकती हैं। यह नंबर उन्हें तत्काल मदद प्रदान करने के लिए तैयार है, चाहे समस्या छेड़छाड़ (Harassment) से संबंधित हो या किसी अन्य प्रकार की सुरक्षा चिंता हो।