home page

इस जगह है उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा रेल्वे स्टेशन, रोजाना करते है लाखों लोग यात्रा

भारत में रेलवे को न केवल आवागमन का एक साधन माना जाता है बल्कि यह लाखों लोगों के जीवन की एक अहम कड़ी भी है।
 | 
-largest-railway-stations-in-india-from-where-millions

भारत में रेलवे को न केवल आवागमन का एक साधन माना जाता है बल्कि यह लाखों लोगों के जीवन की एक अहम कड़ी भी है। हर दिन रेलगाड़ियों में यात्रा करने वाले करोड़ों यात्री इसकी विशालता और महत्व को प्रमाणित करते हैं। भारतीय रेल (Indian Railways) अपनी सुगमता और सुरक्षा के लिए विख्यात है जिसे दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क में से एक माना जाता है।

मध्य प्रदेश का रेलवे नेटवर्क

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) भारत का हृदयस्थल कहा जाने वाला राज्य अपने विस्तृत रेलवे नेटवर्क के लिए जाना जाता है। यहाँ का कटनी जंक्शन (Katni Junction) क्षेत्रफल की दृष्टि से राज्य का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। यहां प्रतिदिन 342 यात्री ट्रेनें और 300 से अधिक मालगाड़ियां अपना सफर तय करती हैं जो कटनी को भारत के सबसे व्यस्त रेलवे जंक्शनों में शामिल करता है।

कटनी जंक्शन

कटनी जंक्शन (Katni Junction) जिसका रेलवे स्टेशन कोड KTE है न केवल मध्य प्रदेश बल्कि भारत के कई महत्वपूर्ण शहरों को आपस में जोड़ता है। दिल्ली, मुंबई, हावड़ा, बेंगलुरु जैसे महानगरों से लेकर छोटे शहरों तक यह जंक्शन एक महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में काम करता है। इसकी वजह से कटनी न केवल व्यापार (Trade) बल्कि पर्यटन (Tourism) के लिहाज से भी महत्वपूर्ण स्थल बन गया है।

कटनी के विकास में रेलवे की भूमिका

रेलवे ने कटनी के विकास में एक अहम भूमिका निभाई है। कटनी मुंडवारा जंक्शन और कटनी साउथ जैसे स्टेशनों की शुरुआत के साथ यहाँ की यातायात क्षमता में सुधार हुआ है। विकिपीडिया के अनुसार कटनी जंक्शन में 6 प्लेटफार्म और 11 पटरियां हैं जो इसे अतिरिक्त ट्रेनों को संभालने में सक्षम बनाती हैं।

इटारसी जंक्शन

जबकि कटनी क्षेत्रफल में सबसे बड़ा है मध्य प्रदेश का इटारसी रेलवे जंक्शन (Itarsi Railway Junction) प्लेटफार्म की संख्या के हिसाब से सबसे बड़ा है जिसमें कुल 9 प्लेटफार्म हैं। यहां से प्रतिदिन 200 से अधिक ट्रेनें गुजरती हैं जो इसे एक महत्वपूर्ण ट्रांजिट पॉइंट बनाती हैं।