home page

इस सरकारी योजना ने हरियाणा के किसानों की कर दी मौज, सरकार दे रही है बंपर सब्सिडी

हरियाणा के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (PM Kusum Yojana) एक नई उम्मीद की किरण बनकर आई है।
 | 
farmers-are-liking-pm-kusum-yojana-very-much-in-haryana-govt

हरियाणा के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (PM Kusum Yojana) एक नई उम्मीद की किरण बनकर आई है। इस योजना के तहत किसानों को सिंचाई (Irrigation) के लिए सोलर पैनल (Solar Panels) स्थापित करने की सुविधा दी जा रही है, जिससे उनकी सिंचाई लागत में काफी कमी आ रही है।

सोलर पंप से सिंचाई का नया आयाम

बिजली एवं ऊर्जा मंत्री रणजीत चौटाला (Ranjit Chautala) के अनुसार सोलर पंप (Solar Pumps) के माध्यम से किसान अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं और अतिरिक्त बिजली (Excess Electricity) को ग्रिड में देकर अपनी आय में वृद्धि कर सकते हैं। सरकार द्वारा इस पर भारी सब्सिडी (Heavy Subsidy) भी प्रदान की जा रही है।

किसानों के लिए डिमांड नोटिस जारी

जिन किसानों ने बिजली आधारित कृषि नलकूप कनेक्शन (Agricultural Tubewell Connection) के लिए आवेदन किया है, उन्हें चरणबद्ध तरीके से डिमांड नोटिस (Demand Notices) जारी किए जा रहे हैं। इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद इन किसानों को कनेक्शन प्रदान किए जाएंगे, जिससे उनके सिंचाई के साधनों में बढ़ोतरी होगी।

सोलर पंप लगवाने में बढ़ती रुचि

मौजूदा वित्त वर्ष में 67 हजार से अधिक किसानों ने सोलर पंप (Solar Pumps) लगवाए हैं और आने वाले वित्त वर्ष में यह संख्या 70 हजार से भी अधिक होने की उम्मीद है। इससे स्पष्ट होता है कि किसानों में सोलर पंप की स्थापना के प्रति रुचि बढ़ रही है। इससे न केवल उनके सिंचाई के खर्च में कमी आएगी बल्कि स्थायी विकास (Sustainable Development) की ओर भी एक कदम बढ़ेगा।

सरकारी सहयोग से खेती में क्रांति

पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Scheme) के तहत सरकारी सब्सिडी की पेशकश किसानों को नवीन ऊर्जा स्रोतों (Renewable Energy Sources) की ओर आकर्षित कर रही है। इससे खेती में एक नई क्रांति (Revolution in Agriculture) की शुरुआत हो रही है, जहाँ किसान पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों से विमुक्त होकर स्वच्छ और हरित ऊर्जा (Clean and Green Energy) की ओर बढ़ रहे हैं।

आर्थिक लाभ के साथ पर्यावरण संरक्षण

सोलर पंपों के उपयोग से किसानों को न केवल आर्थिक लाभ (Economic Benefits) हो रहा है बल्कि यह पर्यावरण संरक्षण (Environmental Protection) में भी योगदान दे रहा है। सौर ऊर्जा का उपयोग करने से कार्बन उत्सर्जन (Carbon Emissions) में कमी आती है और यह जलवायु परिवर्तन (Climate Change) से लड़ने में मदद करता है।