home page

भारत के इस गांव में सबसे पहले उगता है सूरज, होशियार लोग भी नही जानते सही जवाब

भारत के अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग खान-पान, लोग, बोलियां, भाषाएं और मौसम हैं। साथ ही, सूरज उगने से ढलने तक यहां का समय एक समान नहीं है
 | 
dong in arunachal pradesh

भारत के अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग खान-पान, लोग, बोलियां, भाषाएं और मौसम हैं। साथ ही, सूरज उगने से ढलने तक यहां का समय एक समान नहीं है। बहुत से स्थानों पर सुबह जल्दी होती है, और शाम देर मे होती है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत में सबसे पहले सूर्योदय कहां होता है?

Dong Village Sunrise

अरुणाचल प्रदेश राज्य का नाम बहुत लोग जानते हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि राज्य के किस गांव में सबसे पहले सूर्य देवता का दर्शन होता है। दरअसल, इसी राज्य के डोंग गांव में देश में सबसे पहले सूर्योदय होता है, जिसका नाम अरुणाचल है, जिसका अर्थ ही "सूर्य का आंचल" है।

Dong में सुबह कब होती है?

डोंग में सूर्योदय कब होता है? डोंग गांव, जो अरुणाचल प्रदेश की डोंग घाटी में है, यहाँ पर सुबह चार बजे के आसपास सूर्योदय होता है और शाम चार बजे तक सूर्यास्त होता है। यह पूर्वी गांव अंजो जिले में करीब 1240 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। ये गांव बहुत ही अनोखा है।

Where is Dong village?

डोंग गांव कहां है? यह स्थान अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए भी जाना जाता है। इस जगह पर पर्यटक और फोटोग्राफी के शौक़ीन लोग आते रहते हैं। यह चीन, म्यांमार और भारत के "त्रिकोणीय जंक्शन" से घिरा है। यहां आराम से ट्रैकिंग करते हुए पहुंचा जा सकता है। यदि आप भारत में किसी ख़ास स्थान पर जाना चाहते हैं, तो यह आपके लिए बेहतर जगह साबित हो सकती है।

How to reach Dong village?

डोंग गांव तक कैसे पहुंचे? यहां पहुंचने के लिए आपको डिब्रूगढ़, असम, रेलवे से जाना पड़ेगा. यहाँ जाने के लिए आप दिल्ली, कोलकाता या गुवाहाटी से उड़ान भर सकते हैं। आपको यहां पहुंचने के बाद वालॉन्ग जाना होगा। वालॉन्ग ट्रैकिंग का मेन प्वाइंट है, यहां से डोंग घाटी तक पहुंचने में 90 मिनट लगेंगे। सूर्योदय की जगह पर जाने के लिए आधी रात के बाद दो बजे चढ़ाई शुरू करनी होगी। शानदार दृश्य और हरे-भरे घास के मैदान आपकी थकान दूर करेंगे, हालांकि ट्रैक थोड़ा कठिन है।

Accommodation in Dong Village

अरुणाचल प्रदेश में ठहरने के लिए इनर लाइन परमिट की जरूरत है क्योंकि यह एक प्रतिबंधित क्षेत्र है। अरुणाचल ILP की वेबसाइट पर जाकर आप परमिट के लिए आवेदन कर सकते हैं। परमिट मिलने पर आप अरुणाचल प्रदेश में इस स्थान सहित कई स्थानों को देख सकते हैं। अगर आप एक पैदल यात्रा करने वाले हैं, तो आप तेजू, ह्युुलियांग या हवाई में ठहर सकते हैं। आप लोहित नदी के किनारे भी कैम्प कर सकते हैं।