home page

ट्रेन का टिकट लेने के लिए लंबी लाइनों में लगने की समस्या हुई ख़त्म, QR कोड स्कैन करते ही झट से मिलेगा जाएगा ट्रेन का जनरल टिकट

भारतीय रेलवे (Indian Railways) जिसे देश की लाइफलाइन कहा जाता है, ने अपनी सेवाओं को अधिक सुगम और आधुनिक बनाने के लिए नई तकनीकों (Technologies) का समावेश किया है।
 | 
indian-railways-started-qr-code-ticket-system

भारतीय रेलवे (Indian Railways) जिसे देश की लाइफलाइन कहा जाता है, ने अपनी सेवाओं को अधिक सुगम और आधुनिक बनाने के लिए नई तकनीकों (Technologies) का समावेश किया है। यह विशाल नेटवर्क न केवल देश के कोने-कोने को जोड़ता है, बल्कि रोजाना लाखों यात्रियों (Passengers) की यात्रा को सहज और सुरक्षित बनाने में भी अहम भूमिका निभाता है।

टिकटिंग का आधुनिक समाधान

हाल ही में भारतीय रेलवे ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई स्टेशनों पर जनरल टिकट (General Ticket) के लिए एटीवीएम (ATVM - Automatic Ticket Vending Machine) की शुरुआत की है। इस पहल से यात्रियों को टिकट काउंटर्स (Ticket Counters) पर लंबी कतारों और भीड़भाड़ से निजात मिलेगी और वे अपने स्मार्ट कार्ड या यूपीआई QR कोड (UPI QR Code) का उपयोग करके आसानी से टिकट प्राप्त कर सकेंगे।

QR कोड स्कैनिंग की सुविधा

इस इनोवेशन से यात्रियों को जनरल टिकट लेने में आने वाली परेशानियों का समाधान मिला है। अब वे QR कोड को स्कैन करके अपने मोबाइल डिवाइस का उपयोग करके बिना किसी हिचकिचाहट के टिकट प्राप्त कर सकते हैं। इससे यात्रा के दौरान समय की बचत होती है और टिकट काउंटर पर भीड़ कम होती है।

व्यापक स्तर पर शुरू हुई सुविधा

इस सुविधा को लखनऊ, कानपुर, आगरा, प्रयागराज जैसे महत्वपूर्ण स्टेशनों (Important Stations) सहित उत्तर रेलवे के 28 स्टेशनों पर शुरू किया गया है। यह कदम रेलवे की सेवाओं को और अधिक यात्री-अनुकूल (Passenger-friendly) बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण पहल है।

एटीवीएम के माध्यम से आसान टिकटिंग

पूर्व मध्य रेल के सीपीआरओ (CPRO) वीरेंद्र कुमार के अनुसार एटीवीएम के माध्यम से टिकट खरीदना न केवल आसान है बल्कि यह टिकटिंग प्रक्रिया को और भी सुलभ (Accessible) बनाता है। यात्री चाहें तो स्वयं टिकट बना सकते हैं या जरूरत पड़ने पर तैनात एटीवीएम फैसिलिटेटर की मदद से भी टिकट खरीद सकते हैं।