गांव के देसी मिस्त्री ने जुगाड़ लगाकर ईंट और सीमेंट से बना दिया देसी कूलर, कूलिंग को देखकर तो हर कोई हैरान

By Vikash Beniwal

Published on:

इन दिनों भयंकर गर्मी का प्रकोप जारी है। इतनी भीषण गर्मी पड़ रही है कि आदमी चंद मिनट भी धूप में खड़े होने की हिम्मत नहीं कर पा रहा है। गर्म हवा के थपेड़े तो ऐसे लग रहे हैं जैसे मानों आग सेंकने बैठे हों। सोशल मीडिया पर भीषण गर्मी से निपटने के तमाम जुगाड़ वायरल हो रहे हैं। पंखा और कूलर भी इस चिलचिलाती गर्मी में फेल हो चुके हैं। ऐसे में AC और ठंडा पानी ही लोगों को राहत दे रहा है। लेकिन एक ऐसा कूलर भी वायरल हो रहा है जिसे देखकर लोग कह रहे हैं कि इसके सामने तो AC भी फेल है।

सीमेंट और पत्थर से बना कूलर

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि यह कूलर लोहे का नहीं है बल्कि सीमेंट और पत्थर से बना हुआ है। जी हां इस कूलर को दीवार में चुनवा दिया गया है। इससे न तो खड़खड़ की आवाज होती है और न ही इसके टूटने का डर रहता है। इसमें घास लगी हुई है और एक मोटर लगी है जिसमें जोरदार पंखे हैं। जब पानी भरकर इस मजबूत कूलर को चलाया जाता है तो कमरा ठंडा नहीं बल्कि ‘भयंकर ठंडा’ हो जाता है।

सालों-साल चलने वाला कूलर

इस कूलर की खासियत यह है कि यह सालों-साल चलता रहेगा। सीमेंट और पत्थर से बने होने के कारण यह कूलर मजबूत और टिकाऊ है। इसे दीवार में चुनवा देने से न तो यह हिलेगा और न ही टूटेगा। इसमें लगे घास और पंखे इसे और भी अधिक प्रभावी बनाते हैं। इस कूलर की ठंडी हवा इतनी प्रभावी होती है कि इसके सामने AC भी फेल हो जाता है।

सोशल मीडिया पर वायरल

यह वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर @nikkisikar नाम के यूजर ने पोस्ट किया था। उन्होंने कैप्शन में लिखा – “यो राजस्थान है प्रधान, अठे पतो ना कब के दिख जाय।” साथ ही यह भी लिखा है कि इस कूलर के आगे AC भी फेल है। इस वीडियो को खबर लिखे जाने तक 1 लाख 64 हजार व्यूज और छह सौ से अधिक लाइक्स मिल चुके हैं। सैकड़ों यूजर्स ने इस पर कमेंट किए हैं। एक शख्स ने लिखा – “बहुत शानदार जुगाड़ है।” दूसरे ने लिखा – “गजब की तकनीक है।” वहीं अन्य ने कहा कि “मुझे कूलर की हवा बहुत पसंद है।”

जनता की प्रतिक्रिया

इस वीडियो को देखकर लोग इस कूलर की तारीफ कर रहे हैं। कई लोग इसे अद्वितीय और प्रभावी जुगाड़ मान रहे हैं। कुछ लोगों ने इसे राजस्थान की गर्मी से निपटने का सबसे अच्छा तरीका बताया है। वहीं, कुछ लोगों ने इसे अपने घरों में बनाने की योजना भी बनाई है। इस वीडियो ने साबित कर दिया है कि भारतीय लोग अपनी समस्याओं का समाधान खोजने में कितने जुगाड़ू होते हैं।

तकनीकी दृष्टिकोण से अनोखा

सीमेंट और पत्थर से बने इस कूलर का तकनीकी दृष्टिकोण से भी जांच की जा सकती है। यह कूलर न केवल टिकाऊ है बल्कि इसकी बनावट भी खास है। इसमें लगी घास और पंखे इसे और अधिक आसान बनाते हैं। पानी भरकर चलाने से यह कूलर कमरे को बेहद ठंडा कर देता है। इस तरह की तकनीक न केवल पर्यावरण के अनुकूल है बल्कि आर्थिक रूप से भी लाभकारी है।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.