home page

भारत के इन 2 जिलों में रहते है सबसे कम पढ़े लिखे लोग, कही लिस्ट में आपका शहर तो नही

जब भी भारत में शिक्षा की बात होती है, केरल राज्य (Kerala) का उदाहरण सबसे आगे रहता है, जिसे देश का सबसे शिक्षित राज्य माना जाता है।
 | 
least-educated-districts-of-india-know

जब भी भारत में शिक्षा की बात होती है, केरल राज्य (Kerala) का उदाहरण सबसे आगे रहता है, जिसे देश का सबसे शिक्षित राज्य माना जाता है। लेकिन शिक्षा के इसी सिक्के का दूसरा पहलू देश के कुछ जिलों में दिखाई देता है जहां साक्षरता दर (Literacy Rate) चिंताजनक रूप से कम है। आइए इन जिलों पर एक नज़र डालते हैं।

अलीराजपुर है साक्षरता में सबसे पीछे

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) का अलीराजपुर जिला भारत में सबसे कम साक्षरता दर वाले जिलों में सबसे ऊपर है। यहां की औसत साक्षरता दर महज 36.10 प्रतिशत है, जिसमें महिलाओं की साक्षरता दर 30.29 प्रतिशत है। इस आंकड़े से यह स्पष्ट होता है कि शिक्षा के क्षेत्र में यह जिला काफी पिछड़ा हुआ है।

छत्तीसगढ़ के दो कम शिक्षित जिले

बीजापुर और दंतेवाड़ा दोनों छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) राज्य में स्थित हैं, और दोनों ही शिक्षा के मामले में पिछड़े हुए जिले हैं। बीजापुर में जहां औसत साक्षरता दर 40.86 प्रतिशत है, वहीं दंतेवाड़ा में यह दर थोड़ी बेहतर, 42.12 प्रतिशत है। ये आंकड़े इस बात की गवाही देते हैं कि ये जिले शिक्षा के क्षेत्र में अभी भी बहुत पिछड़े हुए हैं।

मध्य प्रदेश और ओडिशा के अन्य कम शिक्षित जिले

झाबुआ और नबरंगपुर जिले भी इसी श्रेणी में आते हैं, जहां झाबुआ (मध्य प्रदेश) में औसत साक्षरता दर 43.30 प्रतिशत और नबरंगपुर (Odisha) में 46.43 प्रतिशत है। इन जिलों के आंकड़े भी साक्षरता के क्षेत्र में उनकी पिछड़ी स्थिति को दर्शाते हैं।