home page

UP के इन 10 गांवो की जमीन की खरीद बेच पर सरकार ने लगाई रोक, कारण जानकर तो आप भी हो जाएंगे हैरान

उत्तर प्रदेश भारत का एक ऐसा राज्य (State) है जो अपनी सभ्यता, सांस्कृतिक विविधता (Cultural Diversity), और ऐतिहासिक महत्व (Historical Significance) के लिए विश्वव्यापी पहचान रखता है।
 | 
land sale ban in 10 villages in this district

उत्तर प्रदेश भारत का एक ऐसा राज्य (State) है जो अपनी सभ्यता, सांस्कृतिक विविधता (Cultural Diversity), और ऐतिहासिक महत्व (Historical Significance) के लिए विश्वव्यापी पहचान रखता है। इस राज्य में पर्यटन (Tourism) के लिए असंख्य स्थल हैं.

जिन्हें देखने के लिए देश-विदेश से लोग आते हैं। हालिया रिपोर्ट्स में काशी (Varanasi) के पर्यटन में एक भारी वृद्धि देखी गई है, जो इस क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं (Basic Facilities) के विस्तार को दर्शाता है।

जीटी रोड आवासीय योजना का आरंभ

उत्तर प्रदेश सरकार ने जीटी रोड आवासीय योजना (GT Road Housing Scheme) की घोषणा की है, जिसमें 10 गांवों को शामिल किया गया है। इस योजना का उद्देश्य क्षेत्र में विस्तार को व्यवस्थित (Systematic Expansion) रूप से अंजाम देना है। जिलाधिकारी एस राजलिंगम (S Rajalingam) ने इन गांवों में जमीनों की खरीद-बिक्री पर रोक लगाने की जानकारी दी है।

भूमि खरीद पर प्रतिबंध

इस नवीन योजना के तहत चिह्नित किए गए 10 गांवों में भूमि की खरीद-बिक्री (Land Transactions) पर प्रतिबंध लगाया गया है। इन गांवों में हांसापुर, मीरापुर, सगहट, मिसिरपुर, निबिया, नकाईन, सदलपुर, कादीपुर, रामपुर और फरीदपुर शामिल हैं। यह कदम आवासीय योजना के तहत भूमि के संरक्षण और सही उपयोग सुनिश्चित करने के लिए उठाया गया है।

विकास और राजस्व हानि पर ध्यान

वरुणा विहार फेज एक और दो में लगी रोक को स्थगित किया गया है, जिसका मुख्य कारण बाढ़ और अन्य प्राकृतिक आपदाओं का उचित निर्धारण न हो पाना है। इससे पहले की योजनाओं पर लगी रोक के कारण राजस्व (Revenue Loss) में भारी हानि हो रही थी, जिसे देखते हुए इस प्रतिबंध को समायोजित किया गया है।