home page

बेकार दिखने वाला नारियल का खोल है बड़े काम की चीज, इन कामों में कर सकते है इस्तेमाल

नारियल हर तरह से फायदेमंद हैं। चाहे पके नारियल की गरी खाना हो या कच्चे नारियल का पानी पीना हो। आज हम पके नारियल की बात कर रहे हैं
 | 
useless looking coconut

नारियल हर तरह से फायदेमंद हैं। चाहे पके नारियल की गरी खाना हो या कच्चे नारियल का पानी पीना हो। आज हम पके नारियल की बात कर रहे हैं। पके नारियल से गरी निकालने के बाद उसका कवर लोग फेक देते है, कभी कभी तो गारी निकलते समय अगर आप ध्यान नहीं देते तो खोल टूट जाता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि नारियल का यह खोल बहुत फायदेमंद हो सकता है? इस शेल से आप बहुत कुछ बना सकते हैं। इस लेख में आज नारियल के खोल से कुछ आसान क्राफ्ट्स बनाने के बारे में हम आपको बताएँगे।

गमला बना सकते है

नारियल के खोल से गमला बनाया जा सकता है। इस छोटे से क्यूट से मिनिएचर गमले में मिनिएचर प्लांट लगाया जा सकता है। इसे बनाने के लिए पहले पका हुआ नारियल लें। सावधानीपूर्वक इसकी जटाओं को अलग करके इसे दो भागों में अलग करें। अब किसी चाकू की मदद से गरी को नारियल के अंदर से निकालकर खोल को साफ कर लें। अब आप इस कोकोनट शेल में मिट्टी डालकर प्लांट लगा सकते है। यह खिड़की या बालकनी में हैंगिंग प्लांटर के रूप में टांगा जा सकता है।

कंदील बना लें

नारियल के खोल से कंदील बनाना कठिन काम है, लेकिन यह आपके ड्रॉइंग रूम, बेडरूम, गेस्ट रूम या स्टडी रूम को और भी सुंदर बना देता है। इसके लिए नारियल शेल को अच्छी तरह से साफ़ कर ले। फिर बाहर और अंदर इसे गोल्डन या सिल्क रंग से पेंट करें। फिर इस खोल में छोटे होल बनाएँ। इस शेल पर अपने मनपसंद रंग की झालर लगाएं। आपकी घरेलू कंदील अब तैयार है। रस्सी या तार की मदद से इसे हैंग करें।

कटोरी बनाएँ

कोकोनट शेल से कटोरी बनाएँ। इसे बनाने के लिए आधा नारियल खोलें। इसमें पेंट कलर से अपना मनपसंद कार्टून बना सकते हैं। कटोरी का बैलेंस बनाए रखने के लिए, दूसरे कोकोनट शेल भाग को उल्टी तरफ से चिपका लें। आप ड्राई फ्रूट्स इस कटोरी में रख सकते हैं।

चिड़ियों के काम आएगा

जिस कोकोनट शेल को आप बेकार समझते हैं, और उसे फेंक देते है। वह चिड़िया के काम भी आ सकता है। आप इसे बर्ड फीडर बनाकर चिड़ियों के लिए दाना-पानी रख सकते हैं। यह उनका घोंसला बनाने में भी काम आता है।

नारियल के खोल में तीन होल करें। अपनी बालकनी, आंगन या सड़क किनारे किसी पेड़ पर इसमें रस्सी बांधकर दाना-पानी रख दे।