home page

पंजाब में फील्ड में उतरी सड़क सुरक्षा फोर्स, हाइवे पर आए दिक्क्त तो ये नम्बर कर लेना डायल

पंजाब सरकार ने सड़क सुरक्षा (Road Safety) को बढ़ावा देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। गत वीरवार को सड़क सुरक्षा फोर्स (SSF) का आगाज़ मोहाली से हुआ.
 | 
Punjab Hindi News

पंजाब सरकार ने सड़क सुरक्षा (Road Safety) को बढ़ावा देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। गत वीरवार को सड़क सुरक्षा फोर्स (SSF) का आगाज़ मोहाली से हुआ, जिसका विस्तार जल्द ही पंजाब के 11 जिलों में किया जाएगा। इस नवीन पहल के तहत 1296 नई भर्तियां की गईं हैं और 432 मौजूदा कर्मचारियों को भी इस फोर्स में शामिल किया गया है।

सड़क सुरक्षा फोर्स का उद्देश्य और संरचना

इस फोर्स का मुख्य उद्देश्य सड़कों पर सुरक्षा (Safety on Roads) प्रदान करना और हाईवे पर किसी भी परेशानी का समाधान करना है। जरूरत पड़ने पर नागरिक 112 नंबर पर कॉल कर सकते हैं, जिसके बाद फोर्स की एक टीम तुरंत मौके पर पहुंचेगी।

इस प्रयास को सफल बनाने के लिए फोर्स को 144 आधुनिक वाहन (Modern Vehicles) प्रदान किए गए हैं, जिनमें 116 टोयोटा हाइलक्स (Toyota Hilux) और 28 महिंद्रा स्कॉर्पियो (Mahindra Scorpio) शामिल हैं।

तकनीकी उपकरण और ट्रेनिंग

इन वाहनों को प्रत्येक 30 किलोमीटर पर तैनात किया जाएगा, जिनमें चार कर्मचारियों की टीम होगी। इस फोर्स के पास स्पीड गन (Speed Gun), अल्कोमीटर (Alcometer), ई-चालान मशीनें (E-Challan Machines) और अन्य अत्याधुनिक उपकरण (Advanced Equipment) होंगे, जो उन्हें सड़कों पर निगरानी और सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम बनाएंगे।

अतिरिक्त सहायता और संसाधन

इसके अलावा फोर्स के साथ मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineers), सिविल इंजीनियर (Civil Engineers) और आईटी विशेषज्ञ (IT Experts) भी तैनात किए गए हैं, जो सड़क हादसों की जांच और तकनीकी कामों को संभालेंगे। विशेष ट्रेनिंग अकेडमी कपूरथला में इस फोर्स के सदस्यों को उनके कार्यों के लिए विशेष प्रशिक्षण (Special Training) दिया गया है।

पंजाब सरकार की यह पहल न केवल सड़क सुरक्षा में एक नया अध्याय जोड़ेगी, बल्कि यह सड़क दुर्घटनाओं (Road Accidents) को कम करने और नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। इस पहल के माध्यम से पंजाब सरकार ने न केवल सड़क सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है,

बल्कि आधुनिक तकनीक और प्रशिक्षित मानव संसाधन का उपयोग करके इसे प्रभावी ढंग से लागू करने का एक उदाहरण भी प्रस्तुत किया है। सड़क सुरक्षा फोर्स की यह पहल पंजाब के नागरिकों के लिए एक बड़ी राहत और सुरक्षा का कवच साबित होगी।