home page

Rajasthan New Expressway: गुजरात, महाराष्ट्र और यूपी की तर्ज पर राजस्थान में बनेंगे नए एक्सप्रेसवे, सरकार ने टास्क फोर्स का गठन करके काम किया शुरू

Rajasthan New Expressway: राजस्थान में हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व में भजनलाल शर्मा की अगुवाई में नई सरकार का गठन हुआ है।
 | 
Rajasthan top headlines

Rajasthan New Expressway: राजस्थान में हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व में भजनलाल शर्मा की अगुवाई में नई सरकार का गठन हुआ है। सरकार ने चुनावी वादे के अनुसार राजस्थान को एक्सप्रेस-वे (Expressway) की राजधानी बनाने की दिशा में कदम बढ़ाया है। संकल्प पत्र 2023 में किए गए इस वादे को पूरा करने की दिशा में सरकार ने महत्वपूर्ण पहल की है।

टास्क फोर्स की स्थापना और उद्देश्य

इस महत्वाकांक्षी योजना को साकार करने के लिए उपमुख्यमंत्री और सार्वजनिक निर्माण विभाग (PWD) की मंत्री दीया कुमारी के निर्देश पर एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। इस टास्क फोर्स का नेतृत्व शासन सचिव संजीव माथुर कर रहे हैं, और इसमें विभिन्न विशेषज्ञों को शामिल किया गया है। इस टीम का मुख्य उद्देश्य राजस्थान में नए एक्सप्रेस-वे की तलाश करना है।

एक्सप्रेस-वे है आवागमन का सुगम मार्ग

एक्सप्रेस-वे के निर्माण से न केवल दूरियां कम होती हैं, बल्कि यातायात (Traffic) के समय और खर्च में भी काफी बचत होती है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) द्वारा निकाले गए दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे और भारतमाला परियोजना इसके प्रमुख उदाहरण हैं। राजस्थान सरकार की यह पहल राज्य में आवागमन को और भी सुगम बनाने की दिशा में एक कदम है।

ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे है भविष्य की योजना

टास्क फोर्स को 6 महीने के भीतर नए एक्सप्रेस-वे की तलाश करनी है, जिन्हें 'ग्रीन फील्ड' (Greenfield) मार्ग के रूप में विकसित किया जाएगा। इससे न केवल यातायात में सुधार होगा, बल्कि पर्यावरण के अनुकूल विकास पर भी जोर दिया जाएगा।

चयन के मानदंड और उम्मीदें

एक्सप्रेस-वे के चयन में कई मानदंडों का पालन किया जाएगा, जैसे कि ट्रैफिक की कैलकुलेशन, दो बड़े इंडस्ट्रियल एरिया (Industrial Area) को जोड़ना, बड़े शहरों के बीच सीधा संपर्क स्थापित करना, टूरिस्ट प्लेसों (Tourist Places) का सर्किट बनाना, और ड्राई पोर्ट्स को इंडस्ट्रियल एरिया से जोड़ना। इसके माध्यम से राज्य के विकास में एक नई क्रांति की उम्मीद है।

राजस्थान सरकार की यह पहल न केवल राज्य के विकास को नई दिशा प्रदान करेगी, बल्कि यह आवागमन की सुविधाओं में भी क्रांतिकारी परिवर्तन लाएगी। एक्सप्रेस-वे की योजना और निर्माण से राजस्थान को न केवल एक्सप्रेस-वे की राजधानी के रूप में स्थापित किया जा सकेगा, बल्कि यह राज्य के आर्थिक और सामाजिक विकास में भी एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा।