home page

अगले 24 घंटों में इन राज्यों में तेज बारिश के लिए हो जाए तैयार, जाने मौसम विभाग का पूर्वानुमान

भारत के कई मैदानी इलाकों में पछुआ हवाओं के कारण मौसम में एक अद्वितीय परिवर्तन देखने को मिल रहा है। इसके चलते दिन के समय तापमान में वृद्धि हुई है जबकि रात में हल्की ठंडक का अनुभव हो रहा है।
 | 
imd weather forecast

भारत के कई मैदानी इलाकों में पछुआ हवाओं के कारण मौसम में एक अद्वितीय परिवर्तन देखने को मिल रहा है। इसके चलते दिन के समय तापमान में वृद्धि हुई है जबकि रात में हल्की ठंडक का अनुभव हो रहा है। यह मौसमी परिवर्तन न केवल जीवनशैली पर अपना प्रभाव डाल रहा है बल्कि खेती-बाड़ी और दैनिक कार्यों में भी बदलाव ला रहा है।

मौसम विज्ञान विभाग की भविष्यवाणी

मौसम विभाग ने हाल ही में एक वेदर रिपोर्ट जारी की है, जिसमें 7 मार्च को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश, और उत्तराखंड में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश और बर्फबारी होने की संभावना जताई गई है। यह बदलाव उन क्षेत्रों में ठंड का अहसास दिला सकता है जहां पहले से ही मौसम सर्द है।

चक्रवाती परिसंचरण का प्रभाव

विभाग ने यह भी बताया है कि दक्षिण ओडिशा पर एक चक्रवाती परिसंचरण मौजूद है जो आने वाले दिनों में ओडिशा, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में हल्की वर्षा का कारण बनेगा। इसी तरह पूर्वी असम पर स्थित एक अन्य चक्रवाती परिसंचरण के कारण अरुणाचल प्रदेश में भी हल्की बारिश की संभावना है।

पश्चिमी विक्षोभ का आगमन

10 मार्च को पश्चिमी विक्षोभ के पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में प्रवेश करने की संभावना है, जिसके कारण 10 से 13 मार्च के दौरान जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी हो सकती है। इस विक्षोभ का प्रभाव न केवल मौसम पर पड़ेगा बल्कि यातायात और दैनिक जीवन पर भी इसका असर देखने को मिल सकता है।

क्षेत्रीय प्रभाव और सावधानियां

रायलसीमा और केरल में अगले 24 घंटों के दौरान गर्म मौसम की संभावना है, जबकि जम्मू-कश्मीर में हल्की बारिश और हिमपात के आसार हैं। मौसम विभाग द्वारा जारी किए गए इस अपडेट के मद्देनजर लोगों को संबंधित क्षेत्रों में सावधानी बरतने और मौसम के अनुसार अपनी तैयारियां करने की सलाह दी जा रही है। विशेष रूप से पहाड़ी क्षेत्रों में यात्रा करने वाले लोगों को अतिरिक्त सावधानी बरतने और मौसम संबंधी अपडेट्स पर नजर रखने की जरूरत है।