home page

पेट्रोल इंजन ज्यादा पावरफुल होते है तो फिर बड़ी गाड़ियों में डीजल का क्यों होता है इस्तेमाल, जाने इसके पीछे की वजह

आज के समय में वाहनों की दुनिया बहुत ही एडवांस हो गई है। इस विविधता में सबसे ज्यादा चर्चा होती है पेट्रोल और डीजल इंजन की। कहा जाता है कि पेट्रोल इंजन वाली गाड़ियां ज्यादा मजबूत होती हैं
 | 
petrol-engine-are-used-in-small-car-and-diesel-engine

आज के समय में वाहनों की दुनिया बहुत ही एडवांस हो गई है। इस विविधता में सबसे ज्यादा चर्चा होती है पेट्रोल और डीजल इंजन की। कहा जाता है कि पेट्रोल इंजन वाली गाड़ियां ज्यादा मजबूत होती हैं और उन्हें डीजल इंजन गाड़ियों से बेहतर माना जाता है। फिर भी हम देखते हैं कि भारी वाहनों में डीजल इंजन का इस्तेमाल होता है। इस आर्टिकल में हम इसी विषय पर गहराई से चर्चा करेंगे।

डीजल और पेट्रोल में मूलभूत अंतर

पेट्रोल और डीजल दोनों ही कच्चे तेल से निकाले जाते हैं। कच्चे तेल को अलग-अलग तापमान पर डिस्टिल करके हल्के और भारी घटकों में बांटा जाता है। हल्के घटकों से पेट्रोल और भारी घटकों से डीजल बनाया जाता है। डीजल जलाने में पेट्रोल की तुलना में मुश्किल होता है और इसे जलाने के लिए अधिक दबाव और तापमान की आवश्यकता होती है।

भारी वाहनों में डीजल का प्रयोग

डीजल इंजन पेट्रोल इंजन की तुलना में अधिक दबाव और तापमान पैदा कर सकते हैं, जो भारी वाहनों में भारी सामान को ले जाने या लंबी दूरी तय करने के लिए आवश्यक होता है। इसी कारण बड़े वाहनों में डीजल इंजन का इस्तेमाल होता है। डीजल इंजन के हाई प्रेसर के कारण, ये इंजन अधिक टॉर्क उत्पन्न करते हैं, जिससे वाहन भारी भार को आसानी से संभाल पाते हैं।

छोटे वाहनों में पेट्रोल का प्रयोग

दूसरी ओर छोटे वाहनों जैसे कि स्कूटर, मोटरसाइकिल और यात्री कारों में पेट्रोल इंजन का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि इन वाहनों को भारी दबाव और टॉर्क की आवश्यकता नहीं होती। पेट्रोल इंजन छोटे होते हैं, जिससे वे इन वाहनों के लिए उपयुक्त होते हैं। पेट्रोल का जलना आसान होता है, जिससे ये इंजन तेजी से और सहजता से शुरू हो जाते हैं।

डीजल और पेट्रोल इंजन के बीच अंतर

डीजल इंजन पेट्रोल इंजन की तुलना में बड़े और जटिल होते हैं। इनमें अधिक पार्ट्स होते हैं और इसके मेंटेनेंस का खर्चा भी ज्यादा होता है। हालांकि डीजल इंजन की दीर्घायु आमतौर पर पेट्रोल इंजन की तुलना में अधिक होती है। पेट्रोल इंजन सरल, हल्के और कम महंगे होते हैं, जिससे इनका रख-रखाव आसान होता है।