home page

गाड़ी पर लगा है Paytm का FASTag तो जल्दी से कर ले ये काम, वरना बाद में हो सकता है पछतावा

पेटीएम (Paytm) बैंक के फास्टैग (FASTag) इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के सामने एक नई चुनौती आई है।
 | 
_Fastag KYC Online Update

पेटीएम (Paytm) बैंक के फास्टैग (FASTag) इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के सामने एक नई चुनौती आई है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के नए निर्देशानुसार 29 फरवरी से पहले ग्राहकों को अपने फास्टैग खातों को पेटीएम पेमेंट्स बैंक (PPBL) से अन्य बैंकों में शिफ्ट करना अनिवार्य होगा। इस कदम को न उठाने पर टोल भुगतान पर दोगुना चार्ज लगेगा। इसलिए ग्राहक अपने खाते को सुरक्षित रखने के लिए इसे गंभीरता से ले रहे हैं।

पोर्टिंग प्रक्रिया के चरण

पेटीएम से जुड़े फास्टैग को दूसरे बैंक में पोर्ट करने की प्रक्रिया सरल है। सबसे पहले उस बैंक के कस्टमर केयर पर कॉल करें जिसमें आप फास्टैग को पोर्ट कराना चाहते हैं। बैंक के प्रतिनिधि को पोर्टिंग का कारण बताएं और आवश्यक जानकारी प्रदान करें। इसके बाद आपको अपने बैंक से जुड़ी कुछ डिटेल्स शेयर करनी पड़ सकती है।

फास्टैग डिएक्टिवेशन की प्रक्रिया

फास्टैग को डिएक्टिव करने के लिए पेटीएम फास्टैग पोर्टल पर लॉगिन करें और आवश्यक जानकारी जैसे यूजर ID, वॉलेट ID और पासवर्ड दर्ज करें। फास्टैग नंबर और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भरें और डिएक्टिवेशन के लिए हेल्प एंड सपोर्ट सेक्शन पर क्लिक करें।

फास्टैग KYC अपडेट की प्रक्रिया

फास्टैग KYC को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से अपडेट किया जा सकता है। ऑनलाइन अपडेट के लिए fastag.ihmcl.com पर जाएं और लॉगिन करें। अपने फास्टैग केवाईसी स्टेटस की जांच करें और यदि आवश्यक हो, डॉक्यूमेंट्स अपलोड करें। ऑफलाइन अपडेट के लिए आपके फास्टैग से जुड़ी बैंक की शाखा में जाएं और KYC फॉर्म भरकर जमा करें।

जरूरी दस्तावेज़

फास्टैग KYC अपडेट के लिए वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ, और एक पासपोर्ट साइज फोटो आवश्यक हैं। आईडी और एड्रेस प्रूफ के रूप में पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या पैन कार्ड स्वीकार्य हैं।

KYC स्टेटस और अपडेट्स

फास्टैग KYC स्टेटस की जांच के लिए, fastag.ihmcl.com पर जाएं और लॉगिन करें। आप अपने बैंक की वेबसाइट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका फास्टैग खाता सही रूप से कार्य करता रहे, क्योंकि अभी समय पर KYC अपडेट करवाना बहुत आवश्यक है।