home page

यूपी के इस शहर के चारों तरफ बनेगा रिंग रोड का जाल, नितिन गडकरी जी के हाथों होगा शिलान्यास

कानपुर शहर के चारों ओर 93.20 किलोमीटर की लंबी आउटर रिंग रोड (Outer Ring Road) के निर्माण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है।
 | 
Union Road Transport Minister Nitin Gadkari

कानपुर शहर के चारों ओर 93.20 किलोमीटर की लंबी आउटर रिंग रोड (Outer Ring Road) के निर्माण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। रेलवे से आवश्यक अनुमति (NOC) मिलते ही केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस परियोजना के शिलान्यास के लिए 15 फरवरी की तारीख निर्धारित की है। यह रिंग रोड चार पैकेजों में पूरी होगी और इसका निर्माण मार्च 2027 तक पूरा होने की उम्मीद है।

आउटर रिंग रोड की विशेषताएं और लाभ

इस आउटर रिंग रोड का निर्माण कानपुर नगर, कानपुर देहात और उन्नाव जैसे तीन जिलों से होकर गुजरेगा, जिससे शहर के चारों तरफ से सुगम यातायात (Smooth Traffic) सुनिश्चित होगा। इस परियोजना के पूरा होने पर कानपुर शहर का विकास और भी तेजी से होगा, साथ ही यातायात की समस्याओं का समाधान होगा।

परियोजना के विभिन्न चरण और उनकी प्रगति

93.20 किमी लंबी इस रिंग रोड के दो चरण, मंधना से सचेंडी और सचेंडी से रमईपुर के बीच का काम पहले ही शुरू हो चुका है। इन दोनों फेज का काम गुजरात की एक नामी कंस्ट्रक्शन कंपनी (Raj Construction Company) द्वारा किया जा रहा है। रमईपुर से गंगा पुल तक और फिर उन्नाव जिले में आटा तक इस रिंग रोड का निर्माण कार्य आवंटित किया जा चुका है।

शिलान्यास और अन्य परियोजनाओं का लोकार्पण

एनएचएआई (NHAI) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर प्रशांत दुबे के अनुसार 15 फरवरी को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी कानपुर और उन्नाव में इस रिंग रोड के शिलान्यास के साथ ही रायबरेली-उन्नाव हाईवे, चकेरी-प्रयागराज सिक्सलेन और कानपुर-अलीगढ़ फोरलेन हाईवे का भी लोकार्पण करेंगे। हालांकि अभी तक कार्यक्रम का स्थान और समय तय नहीं किया गया है।

कानपुर के विकास में आउटर रिंग रोड की भूमिका

यह आउटर रिंग रोड परियोजना कानपुर शहर के विकास में एक मील का पत्थर साबित होगी। इससे न केवल यातायात की समस्या का समाधान होगा बल्कि शहर के विकास को भी नई दिशा मिलेगी। इस परियोजना से जुड़े सभी हितधारकों और नागरिकों को इसके पूरा होने का बेसब्री से इंतजार है।