home page

Luggage Lost in Train: ट्रेन में भूल गये है सामान तो इस तरीके से मिल जाएगा वापस, बस बिना देरी के कर लेना ये काम

अक्सर यात्री ट्रेन यात्रा (Train Journey) के दौरान अपना सामान (Luggage) भूल जाते हैं, जिसके बाद उन्हें लगता है कि अब उनका सामान कभी नहीं मिलेगा।
 | 
if-you-forget-the-luggage-in-the-train

अक्सर यात्री ट्रेन यात्रा (Train Journey) के दौरान अपना सामान (Luggage) भूल जाते हैं, जिसके बाद उन्हें लगता है कि अब उनका सामान कभी नहीं मिलेगा। लेकिन, भारतीय रेलवे (Indian Railways) की व्यवस्था इस समस्या का समाधान करती है। 

रेलवे की समर्पित सेवा 

रेलवे खोए हुए सामानों (Lost Luggage) को उनके मालिकों तक पहुंचाने के लिए एक व्यवस्थित प्रक्रिया का पालन करती है। इसमें रेलवे सुरक्षा बल (RPF) और स्टेशन स्टाफ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। 

खोए हुए सामान की प्रक्रिया 

ट्रेन के आखिरी स्टेशन (Last Station) पर पहुंचने पर, रेलवे स्टाफ द्वारा पूरी ट्रेन की जांच की जाती है और छूटे हुए सामान को स्टेशन मास्टर (Station Master) के पास जमा करवाया जाता है। स्टेशन मास्टर इस सामान की एक रसीद बनाते हैं और उसे रजिस्टर में दर्ज करते हैं। 

खोए हुए सामान की वापसी 

अगर कोई व्यक्ति अपने खोए हुए सामान (Lost Property) के लिए दावा करता है, तो स्टेशन मास्टर उससे संबंधित जानकारी एकत्र करता है और सामान उस व्यक्ति का होने की पुष्टि होने पर उसे लौटा दिया जाता है। 

समय सीमा के भीतर सामान की प्राप्ति 

स्टेशन मास्टर द्वारा खोए हुए सामान को सात दिन (7 Days) तक अपने पास रखा जाता है, उसके बाद उसे लॉस्ट प्रॉपर्टी ऑफिस (Lost Property Office) में भेज दिया जाता है। इसलिए यात्रियों को अपने खोए हुए सामान को इस समय सीमा के भीतर प्राप्त कर लेना चाहिए।