home page

जाने फोन पर टेम्पर्ड ग्लास लगाने से सच में होता है फायदा, जाने कौनसा टेम्पर्ड ग्लास रहता है आपके फोन के लिए सबसे बेस्ट

स्मार्टफोन खरीदने के बाद लगभग ग्राहक सबसे पहले टेम्पर्ड ग्लास (Tempered Glass) लगवाते हैं। यह ग्लास फोन की स्क्रीन को स्क्रैच और टूटने से बचाता है.
 | 
 tempered glass manufacturer

स्मार्टफोन खरीदने के बाद लगभग ग्राहक सबसे पहले टेम्पर्ड ग्लास (Tempered Glass) लगवाते हैं। यह ग्लास फोन की स्क्रीन को स्क्रैच और टूटने से बचाता है, जिससे डिवाइस की लंबे टाइम तक सुरक्षित रहने की वैलिडीटी बढ़ जाती है। यह ग्लास फोन की स्क्रीन के लिए एक एक्स्ट्रा सेफ़्टी लेयर (Extra Layer of Protection) का काम करता है।

टेम्पर्ड ग्लास के प्रकार

बाजार में दो प्रकार के टेम्पर्ड ग्लास उपलब्ध हैं: कांच वाला और प्लास्टिक वाला। प्लास्टिक वाले ग्लास ज्यादा टिकाऊ माने जाते है और ये ज्यादा मजबूत होते हैं। वहीं कांच वाले स्क्रीन प्रोटेक्टर में स्क्रैच और टूटने का खतरा अधिक होता है।

टेम्पर्ड ग्लास के नुकसान

टेम्पर्ड ग्लास के कई नुकसान भी हैं। इसके लगाने से स्मार्टफोन की हीटिंग समस्या (Heating Issues) बढ़ सकती है, क्योंकि यह ग्लास स्क्रीन से निकलने वाली गर्मी को ठीक से बाहर नहीं जाने देता। इसके अलावा, टेम्पर्ड ग्लास के कारण फोन के सेंसर (Sensors) जैसे कैमरा सेंसर, प्रॉक्सिमिटी सेंसर, लाइट सेंसर आदि ब्लॉक हो सकते हैं।

फिंगरप्रिंट सेंसर और स्पीकर की समस्याएं

आजकल स्मार्टफोन्स में इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर (In-display Fingerprint Sensors) का उपयोग होता है, जो टेम्पर्ड ग्लास लगाने के बाद ठीक से काम नहीं कर सकते। इसके अलावा टेम्पर्ड ग्लास लगाने से फोन के स्पीकर में गंदगी जमा हो सकती है, जिससे कॉल करते समय आवाज साफ नहीं आती।

सावधानी और सही चयन है जरुरी

टेम्पर्ड ग्लास लगाने से पहले इसके फायदे और नुकसान दोनों को समझना जरूरी है। यह आपके स्मार्टफोन की सुरक्षा के लिए जरूरी है, लेकिन साथ ही सावधानीपूर्वक और सही चयन (Correct Selection) भी आवश्यक है, ताकि आपके फोन की काम करने की स्पीड पर असर न पड़े।