home page

जाने ज़हरीले सांपो से क़ैसे चीन में बनाई जाती है शराब, ऐसी शराब को पीने से हमारे शरीर पर क्या होता है असर

विश्वभर में शराब (Alcohol) के विविध प्रकार और स्वाद के दीवाने हैं। लेकिन क्या आपने कभी जहरीले सांपों (Venomous Snakes) से बनी शराब के बारे में सुना है
 | 
snake-wine-is-made-from-poisonous-snakes

विश्वभर में शराब (Alcohol) के विविध प्रकार और स्वाद के दीवाने हैं। लेकिन क्या आपने कभी जहरीले सांपों (Venomous Snakes) से बनी शराब के बारे में सुना है? यह सुनने में जितना अजीब है, इसकी प्रक्रिया और प्रभाव उससे भी ज्यादा रोचक हैं। चलिए इस अद्भुत और रहस्यमयी शराब के बारे में विस्तार से जानते हैं।

जहरीले सांपों से बनी शराब की अनोखी परंपरा

सबसे पहले यह जानना दिलचस्प है कि यह शराब (Snake Wine) अपने आप में एक पारंपरिक और ऐतिहासिक ड्रिंक है। इसकी उत्पत्ति (Origin) की बात करें तो, चीन में इसकी शुरुआत होने का अनुमान है। फिर यह परंपरा धीरे-धीरे दक्षिण पूर्वी एशिया, विशेषकर वियतनाम में लोकप्रिय हो गई। यहाँ के स्थानीय निवासी (Local Residents) इसे बड़े चाव से पीते हैं, और यहाँ आने वाले पर्यटक (Tourists) भी इसे जरूर आजमाते हैं।

शराब का निर्माण कैसे होता है?

इस यूनिक शराब को बनाने की प्रक्रिया (Manufacturing Process) काफी रोचक होती है। मुख्यतः राइस वाइन (Rice Wine) का उपयोग करके इसे बनाया जाता है। पहले इसमें विभिन्न प्रकार के औषधीय जड़ी-बूटियों (Medicinal Herbs) को मिलाया जाता है, फिर एक या एक से अधिक जहरीले सांपों को इसमें डाल दिया जाता है। इसे फिर कई महीनों तक फर्मेंट (Ferment) करने के लिए छोड़ दिया जाता है।

शराब के सेवन के बाद के प्रभाव

इसे पीने के बाद व्यक्ति पर प्रभाव (Effects) की बात करें तो, अधिकांश लोगों का मानना है कि इस शराब का सेवन स्वास्थ्य लाभकारी (Health Benefits) होता है। इसका कारण यह है कि अल्कोहल में लंबे समय तक रखे जाने के कारण सांप के जहर का असर खत्म हो जाता है, जिससे यह मानव के लिए हानिकारक नहीं रह जाता।

इतिहास और विकास

इतिहासकारों (Historians) के अनुसार इस ड्रिंक की शुरुआत झोऊ प्रांत से हुई थी, जो आज के चीन का हिस्सा है। उस समय इसे दवाई के रूप में उपयोग (Medicinal Use) किया जाता था। स्नेक ब्लड वाइन (Snake Blood Wine) भी उसी समय का एक रूप था, जिसमें सांप के खून को शराब में मिलाया जाता था।