कलयुगी बेटी ने अपने ही मां-बाप पर कर दिया केस, बोली बिना इजाजत के मूझे पैदा क्यों किया

By Vikash Beniwal

Published on:

जब कोई जोड़ी माता-पिता बनने की खुशखबरी सुनती है, तो यह पल उनके लिए बहुत खास होता है। वे आने वाले नन्हे मेहमान के स्वागत की तैयारी में जुट जाते हैं। हालांकि क्या कभी यह सोचा गया है कि नवजात शिशु क्या सोचता है? क्या वह इस दुनिया में आना चाहता है? इसी विचारधारा को लेकर एक अनोखी घटना सामने आई है जहां एक युवती ने अपने जन्म के लिए अपने माता-पिता पर मुकदमा दायर किया है।

अनोखा केस और सोशल मीडिया की प्रतिक्रिया

अमेरिका के न्यूजर्सी से एक टिकटॉक उपयोगकर्ता कास थिएज़ ने हाल ही में एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें उसने बताया कि उसने अपने माता-पिता पर मुकदमा किया है। उसका आरोप था कि उसके माता-पिता ने उसकी मर्जी के बिना उसे जन्म दिया। इस खुलासे ने सोशल मीडिया पर बहस की लहर खड़ी कर दी, जहां लोगों ने इसे विचित्र और हास्यास्पद बताया।

सच्चाई का खुलासा

लड़की ने यह भी बताया कि उसके अपने बच्चे हैं, जिन्हें उसने गोद लिया है, न कि खुद जन्म दिया है। इस प्रकार वह खुद को उनके जन्म के लिए जिम्मेदार नहीं मानती। जब यह वीडियो वायरल हुआ और लोगों ने उसे ट्रोल किया, तो उसने पूरी सच्चाई साझा करते हुए कहा कि यह सब एक सोशल प्रयोग था।

नैतिकता और माता-पिता की जिम्मेदारियां

इस घटना ने एक बड़ा सवाल खड़ा किया है कि क्या माता-पिता बनने के निर्णय में वास्तव में आने वाले बच्चे की मर्जी को भी शामिल किया जा सकता है? यह एक दार्शनिक प्रश्न है जो माता-पिता की जिम्मेदारियों और बच्चे के अधिकारों के बीच संतुलन तलाशता है।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.