home page

ITR Refund Rules: आईटीआर भरने के बाद भी इन लोगों को नही मिलेगा रिफंड, ITR में रिफंड से जुड़े नियमों में हुआ बदलाव

ITR Refund Rules: यदि आप अभी तक अपना आयकर रिटर्न (ITR Filing) फाइल नहीं किया है, तो इसे अंतिम तिथि से पहले पूरा कर लेने की सलाह दी जाती है।
 | 
Income Tax latest news n hindi

ITR Refund Rules: यदि आप अभी तक अपना आयकर रिटर्न (ITR Filing) फाइल नहीं किया है, तो इसे अंतिम तिथि से पहले पूरा कर लेने की सलाह दी जाती है। समय पर आईटीआर फाइल करने से न केवल आप अंतिम समय की परेशानियों से बच सकते हैं, बल्कि पेनाल्टी (Penalty) के जोखिम से भी बचे रहते हैं।

रिफंड लेने की प्रक्रिया

आयकर रिटर्न फाइल करने के बाद आयकर विभाग (Income Tax Department) से आपको ई-मेल या मोबाइल पर सूचना मिलती है कि आपका आयकर रिफंड (Income Tax Refund) बना है या नहीं। यदि रिफंड बनता है, तो विभाग द्वारा इसे एक से चार हफ्तों में आपके बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिया जाता है।

100 रुपये से कम का रिफंड

यदि आपका रिफंड 100 रुपये से कम होता है, तो आयकर विभाग के एक विशेष नियम के अनुसार यह राशि आपके खाते में ट्रांसफर नहीं की जाती। 5 जनवरी 2012 को जारी एक नोटिफिकेशन (Notification) के अनुसार ऐसी स्थिति में रिफंड अगले वर्ष के रिफंड में जोड़ दिया जाता है।

रिफंड का अगले वर्ष में अडजस्ट

उदाहरण स्वरूप यदि वित्त वर्ष 2021-22 में आपका रिफंड 70 रुपये है, तो इसे आपके खाते में नहीं भेजा जाएगा। अगले वित्त वर्ष 2022-23 में यदि आपका रिफंड पुनः 70 रुपये हुआ, तो दोनों वर्षों का जोड़ (70+70) यानी 140 रुपये आपके खाते में जमा कर दिया जाएगा।

टैक्स देनदारी में रिफंड का अडजस्ट

अगर आप पर टैक्स की देनदारी (Tax Liability) बनती है, तो 100 रुपये से कम का रिफंड भी आपके आयकर में अडजस्ट (Adjust) कर दिया जाता है। इस प्रकार आयकर विभाग छोटी राशियों के समायोजन के लिए भी विशेष नियमों का पालन करता है।