home page

Indian Railway: बिजवासन रेलवे स्टेशन की ओपनिंग से इन लोगों को होगा सबसे ज्यादा फायदा, इ 4 राज्यों के साथ बढ़ेगी कनेक्टिविटी

सितंबर तक दिल्ली के बिजवासन रेलवे स्टेशन बनकर तैयार होने की संभावना है। इसके बाद बिजवासन स्टेशन से ही राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के लिए ट्रेनें चलेंगी
 | 
Opening of Bijwasan Railway Station

सितंबर तक दिल्ली के बिजवासन रेलवे स्टेशन बनकर तैयार होने की संभावना है। इसके बाद बिजवासन स्टेशन से ही राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के लिए ट्रेनें चलेंगी। देश भर के स्टेशनों को रेल मंत्रालय ने पुनर्निर्माण किया है। दिल्ली एयरपोर्ट के निकट बिजवासन रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट टर्मिनल जैसे बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

बिजवासन रेलवे स्टेशन के पुनर्निर्माण को 2008-09 में मंजूरी दी गयी थी और 2016 में काम शुरू हुआ था। इसे अगस्त 2023 तक बनाने का पहले लक्ष्य था, लेकिन जमीन अधिग्रहण, पेड़ों की कटाई और एयरपोर्ट बनने के कारण स्टेशन की ऊंचाई के कारण प्रोजेक्ट को देरी हुई। अब तक 75 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। बचा हुआ काम सितंबर तक पूरा होने की उम्मीद है।

प्लान के अनुसार, यह स्टेशन लगभग 1.24 लाख वर्ग मीटर में बनाया जा रहा है। इस स्टेशन में आठ प्लेटफॉर्म होंगे। और रेलयात्रियों के लिए चार सबवे बनाए जा रहे हैं।

इस पर 30,400 स्क्वायर मीटर का स्टेशन भवन बन रहा है। 12,500 स्कवॉयर मीटर का ओपन एयर कॉनकोर्स और 1,23,500 स्कवॉयर मीटर का सर्कुलेटिंग रोड नेटवर्क भी इसकी सुंदरता को बढ़ाएगा।

अंतरराज्यीय बस स्टेशन बनाने की भी योजना

यात्रियों के लिए यह रेलवे स्टेशन महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आईजीआई एयरपोर्ट और ये द्वारका सेक्टर-21 मेट्रो स्टेशन के निकट है। यहां पर एक अंतरराज्यीय बस अड्डा भी बनाने की योजना है।

इसके बाद यह एक महत्वपूर्ण परिवहन हब बन जाएगा। यहाँ से लोग बस, मेट्रो, रेलगाड़ी और हवाई जहाज की सुविधा का फायदा उठा पाएंगे।

रेलवे बोर्ड ने बिजवासन स्टेशन पर स्लीपर वंदेभारत के लिए एक डिपो बनाने का भी आदेश दिया है। इस डिपो को बनाने में अधिक समय लग सकता है।