home page

होली के जश्न में भांग की ठंडाई पी ली है तो कैसे मिलेगा आराम, बस भूलकर भी मत करना ये गलतियां

होली जिसे हम रंगों का त्योहार कहते हैं, वह न केवल खुशियों और उमंगों को साझा करने का अवसर होता है बल्कि यह परंपरागत रूप से एक ऐसा समय भी है जब लोग होलिका दहन के बाद भांग की ठंडाई के साथ जश्न मनाते हैं।
 | 
holi-2024-if-you-have-consumed-bhang-thandai

होली जिसे हम रंगों का त्योहार कहते हैं, वह न केवल खुशियों और उमंगों को साझा करने का अवसर होता है बल्कि यह परंपरागत रूप से एक ऐसा समय भी है जब लोग होलिका दहन के बाद भांग की ठंडाई के साथ जश्न मनाते हैं। इस दिन बड़े टब और ड्रमों में रंग घोलकर जमकर एंजॉय किया जाता है, गुलाल उड़ाया जाता है और संगीत की धुन पर सभी थिरकते हैं।

भांग की ठंडाई के मजे

होली पर भांग की ठंडाई का चलन बहुत पुराना है। भांग जो कि एक प्रकार का नशा प्रदान करता है, उसका असर धीरे-धीरे शुरू होता है। यह व्यक्ति के नर्वस सिस्टम पर प्रभाव डालता है जिससे वह अपने कार्यों पर सही से नियंत्रण नहीं रख पाता। भांग के नशे में व्यक्ति अपनी एक्टिविटीज को बिना रुके जारी रखता है. चाहे वह हंसना हो, रोना हो या खाना हो।

होली पर भांग की ठंडाई पीने के दौरान सावधानियां

भांग की ठंडाई का आनंद लेने के लिए कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए ताकि जश्न की यह घड़ी मुसीबत का सबब न बन जाए। सबसे पहले अगर आपने भांग ली है तो अल्कोहल का सेवन बिल्कुल न करें क्योंकि इसके मिश्रण से नुकसान हो सकता है। इसके अलावा भांग के नशे में ड्राइविंग न करें क्योंकि इससे दुर्घटना का खतरा बढ़ जाता है। भांग की ठंडाई के नशे में आपका समझ-बूझ का स्तर गिर जाता है, जिससे गाड़ी चलाना खतरनाक हो सकता है।

इसके अलावा भांग पीने के बाद मीठा खाने से बचें। मीठे से नशा और बढ़ सकता है, जिससे स्थिति नियंत्रण से बाहर हो सकती है। यदि आपने भांग की ठंडाई पी है तो अधिक मात्रा में पानी पीते रहें। भांग पीने के बाद शरीर में पानी की कमी हो सकती है, जिसे पूरा करना जरूरी है। अंत में भांग के नशे में किसी भी प्रकार की दवा का सेवन न करें क्योंकि इससे नकारात्मक प्रतिक्रिया हो सकती है।

नशा कम करने के उपाय

यदि भांग का नशा अधिक हो जाए तो इसे कम करने के कुछ उपाय हैं। खट्टे फल जैसे मौसमी, अंगूर और संतरे खाएं या केवल नींबू का रस लें। इमली का पानी पीने से भी नशा कम हो सकता है। गुनगुने पानी से नहाने से भी राहत मिल सकती है। अरहर की दाल का पानी पिलाने से और नारियल पानी पीने से भी नशा कम होता है।