home page

देर से उठने की आदत है तो बिना किसी देरी के जल्द ही सुधार ले आदत, वरना बाद में हो सकते है ये 5 बड़े नुकसान

बड़े-बुजुर्गों से लोगों को सुबह सूर्योदय के साथ ही जागने की सलाह मिलती है, ताकि वे स्वस्थ और निरोगी रहें
 | 
how-to-wake-up-early

बड़े-बुजुर्गों से लोगों को सुबह सूर्योदय के साथ ही जागने की सलाह मिलती है, ताकि वे स्वस्थ और निरोगी रहें। लेकिन यह भी सच है कि आज की बिजी और भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल में लोगों को समय पर खाना खाने और नींद पूरी करना भी मुश्किल है। रात में कुछ लोग देर तक जागकर काम करते हैं, तो कुछ लोगो को नींद नहीं आती है।

लोग इन दोनों परिस्थितियों में देर से सोते हैं और देर से सुबह उठते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि देर से सुबह उठने से कई बीमारियां आपको घेर सकती हैं? तो चलिए जानते है

डाइजेस्टिव प्रॉब्लम्स

सुबह देर से उठने से पाचन क्रिया भी धीमी होती है। इससे कॉन्स्टिपेशन की समस्या हो सकती है और देर से उठने वाले लोगों में पाइल्स या बवासीर की समस्या अधिक होती है।

डायबिटीज

दुनिया भर में खराब लाइफस्टाइल की वजह से हाई ब्लड शुगर लेवल से जुड़ी बीमारी डायबिटीज तेजी से बढ़ रही है। सुबह देर से उठने से ब्लड शुगर लेवल बहुत कम हो सकता है। इसकी वजह से भूख की समस्याएं भी बढ़ जाती हैं। इससे लोगों की डाइट संतुलित नहीं रहती, जिससे उन्हें डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है।

हार्ट की समस्या

लोग देर से उठते हैं, इससे उन्हें धूप नहीं मिलती और उनके शरीर में हार्मोन्स का स्तर बिगड़ने लगता है। इसी तरह, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर लेवल भी बढ़ सकते हैं, जो दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ाते है।

मोटापा

देर से सोकर उठने वाले लोगों की मेटाबॉलिक दर कम होती है। लोगों को इस स्लो मेटाबॉलिज्म की वजह से खाना खाने के बाद कैलोरी बर्न करने में मुश्किल आती है। इससे शरीर में फैट जमने लगता है, जिससे मोटापा बढ़ता है।

मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं

सुबह देर तक सोने वाले लोगों का मानसिक स्वास्थ्य भी खराब होता है। ऐसे लोगों में चिड़चिड़ापन, मूड स्विंग और डिप्रेशन की समस्याएं बढ़ जाती हैं।