इस सांप से सामना हो जाए तो तुरंत रास्ता बदलने में है भलाई, ये कोबरा9 फीट दूर तक फेंक सकता है अपना जहर

By Vikash Beniwal

Published on:

जब भी सबसे विषैले सांपों की चर्चा होती है तो इनलैंड ताइपन का नाम सबसे ऊपर आता है जिसकी एक बूंद जहर से कई इंसानों की जान जा सकती है। लेकिन जेब्रा स्पिटिंग कोबरा भी कम नहीं है जिसका जहर न केवल खतरनाक होता है बल्कि यह उसे थूक सकता है और वह भी 9 फीट की दूरी से।

जेब्रा स्पिटिंग कोबरा की खासियत

इस सांप की विशेषता इसके जहर को थूकने की क्षमता है। यह अपने जहर से न सिर्फ शिकार को परेशान कर सकता है बल्कि अगर यह जहर किसी इंसान की आंखों में चला जाए तो वह उसे रूप से अंधा भी कर सकता है। इसकी शारीरिक बनावट में जेब्रा जैसी धारियां होती हैं जिसके कारण इसका नाम जेब्रा स्पिटिंग कोबरा पड़ा।

जहरीले होने की खासियत

जेब्रा स्पिटिंग कोबरा अपने जहर को बहुत सटीकता के साथ थूक सकता है। यह सिर्फ थूकने में ही माहिर नहीं है बल्कि यह काटने पर भी उतना ही जहरीला होता है। इसके जहर की मात्रा और असर दोनों ही इतने शक्तिशाली हैं कि यह तुरंत अपने शिकार को प्रभावित कर सकता है।

आवास और प्राकृतिक वास

जेब्रा स्पिटिंग कोबरा मुख्यतः नामिबिया, अंगोला और दक्षिण अफ्रीका के जंगलों में पाया जाता है। यह अपने जहर को बड़ी-बड़ी थैलियों में इकट्ठा करते है और खतरा महसूस होने पर तत्काल जहर उगल देता है। इसका व्यवहार बेहद सतर्क और आक्रामक हो सकता है खासकर जब यह खुद को धमकी में महसूस करता है।

शिकारी और शिकार का चक्र

जेब्रा स्पिटिंग कोबरा की खाने की आदतें भी उसके जीवन को प्रभावित करती हैं। यह छोटे पक्षियों, मछलियों और मेंढकों को अपना शिकार बनाता है। इसके अलावा इसकी आक्रामक प्रकृति और शिकार करने की तकनीक इसे अपने निवास स्थान में एक खतरनाक शिकारी बनाती है।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.