home page

राशन कार्ड धारकों को राशन पूरा नही दिया तो मशीन कर देगी रिजेक्ट, कम राशन बांटने की समस्या का होगा ख़ात्मा

भारत में राशन वितरण प्रणाली (Ration Distribution System) हमेशा से ही अनेको चुनौतियों और शिकायतों का केंद्र रही है।
 | 
story free ration card holders

भारत में राशन वितरण प्रणाली (Ration Distribution System) हमेशा से ही अनेको चुनौतियों और शिकायतों का केंद्र रही है। इनमें से एक प्रमुख समस्या है घटतौली (Short Weighing)। हालांकि अब जल्द ही राशनकार्ड धारकों (Ration Card Holders) को इस समस्या से राहत मिलने वाली है, जिसका श्रेय जाता है ई-पॉश मशीन (E-POS Machine) और तोल मशीनों के बीच लिंक (Linking) को।

ई-पॉश मशीन से घटतौली पर लगेगा विराम

सरकार द्वारा राशन कोटेदारों के राशन तोलने वाले कांटे को ई-पॉश मशीन से लिंक करने की पहल (Initiative) ने राशन वितरण में पारदर्शिता (Transparency) और विश्वसनीयता (Reliability) की नई उम्मीद जगाई है। इस व्यवस्था के तहत जब तक कांटे से पूरा राशन नहीं तुलेगा, राशनकार्ड धारक का अंगूठा एप्रूव (Thumb Approval) नहीं होगा। इससे राशन वितरण में होने वाली घटतौली की प्रमुख समस्या का समाधान होगा।

जनपद की दुकानों पर लिंकिंग का काम पूरा

जनपद की 1200 से अधिक राशन की दुकानों (Ration Shops) पर ई-पॉश मशीन व तोल मशीनों को लिंक करने का काम जल्द ही पूरा होने वाला है। इससे न केवल घटतौली की समस्या में कमी आएगी बल्कि राशनकार्ड धारकों को उनका पूरा हक मिलेगा।

राशन कोटेदारों पर नज़र

राशन कोटेदारों (Ration Dealers) की घटतौली की शिकायतें दशकों से चली आ रही हैं। कोरोना काल (COVID-19 Pandemic) में जब मुफ्त राशन की व्यवस्था शुरू हुई, तो इन शिकायतों में और भी इजाफा हो गया। ई-पॉश मशीन के लांच होने के बाद फर्जी राशनकार्ड (Fake Ration Cards) की समस्या तो कम हुई, परंतु घटतौली की शिकायतें जस की तस बनी रहीं। इस नई पहल से अब इन शिकायतों में कमी आने की उम्मीद है।

जिला पूर्ति अधिकारी का बयान

जिला पूर्ति अधिकारी संजीव कुमार सिंह ने बताया कि सभी कोटेदारों की तोल मशीनों को ई-पॉश मशीन से लिंक करने का काम होगा, जिससे घटतौली नहीं हो सकेगी। इस कदम से राशन वितरण प्रणाली में एक नई क्रांति (Revolution) आएगी और राशनकार्ड धारकों को उनका पूरा अधिकार मिलेगा।