home page

200 रुपए की फिल्म टिकट बिकने पर सरकार और थिएटर वालों को कितनी होती है कमाई, जाने फिल्म बनाने वाले को सिनेमाघर वाले कितना देते है हिस्सा

आपको बता दे कि हाल ही में बहुत सारी नई फिल्में रिलीज हो रही है और ये फ़िल्में एक हफ्ते में करोडो तक की कमाई कर रही है.
 | 
200 रुपए की फिल्म टिकट बिकने पर सरकार और थिएटर वालों को कितनी होती है कमाई

आपको बता दे कि हाल ही में बहुत सारी नई फिल्में रिलीज हो रही है और ये फ़िल्में एक हफ्ते में करोडो तक की कमाई कर रही है. जैसे बात करें अगर हम शाहरुख खान की फिल्म जवान की तो इस फिल्म में 5 दिनों में 500 करोड रुपए की बंपर कमाई की है.

आज आपको बताएंगे कि आखिर इन फिल्मों के रिलीज और इनको बनाने से किसको क्या फायदा मिलता है, आखिर सिनेमाघर को कितने रुपए मिलते हैं, प्रोड्यूसर को कितने रुपए मिलते हैं और सरकार का टैक्स कितना रहता है?

इसको समझने के लिए आपको समझाना पड़ेगा कि आखिर फिल्म किस तरह से बनती है. सबसे पहले प्रोड्यूसर फिल्म को अपने खर्चे पर बनवाता है. उसके बाद फिल्म पूरी होने के बाद उसे डिस्ट्रीब्यूटर को दे देता है और डिस्ट्रीब्यूटर अपने अनुसार इस फ़िल्म को चलाने के लिए सिनेमाघर को देता है.

फिल्म के टिकट से जो कमाई होती है, उसमें से सिनेमाघर अपना हिस्सा रखकर बाकी पैसा डिस्ट्रीब्यूटर को देते हैं और डिस्ट्रीब्यूटर अपना पैसा रखकर बाकी पैसा  प्रोड्यूसर को देता है. साथ ही सरकार भी अपना कुछ परसेंटेज टैक्स ले लेती है.

ऐसे बटता है कमाई का हिस्सा  

चलिए 200 रूपए की सिनेमा की टिकट का उदहारण लेकर यह समझने की कोशिश करें कि किसकी कितनी कमाई होती है. आपको बता दे यदि फिल्म की टिकट का दाम ₹100 से कम है तो इस पर 12% जीएसटी लगता है. परंतु यदि इसका दाम ₹100 रुपए से ज्यादा है, तो इस पर 18% जीएसटी लगता है, जिसमें से 9% राज्य सरकार तथा 9% केंद्र सरकार का होता है. इस 18% को हटाने के बाद जो पैसा बचता है वह सिनेमा घर डिस्ट्रीब्यूटर और प्रोड्यूसर को मिलता है.