home page

फोन को एकबार चार्ज करने में कितने यूनिट का आता है खर्चा, जाने सालभर में कितने रुपए का आएगा बिजली बिल

स्मार्टफोन आज हमारी जिंदगी का अनिवार्य हिस्सा (Essential Part) बन चुके हैं। इनके बिना हमारी रोजमर्रा की गतिविधियां अधूरी सी लगती हैं।
 | 
electricity-in-phone-charging-know-how-much-electricity

स्मार्टफोन आज हमारी जिंदगी का अनिवार्य हिस्सा (Essential Part) बन चुके हैं। इनके बिना हमारी रोजमर्रा की गतिविधियां अधूरी सी लगती हैं। इसके लिए निश्चित रूप से बिजली और रिचार्ज प्लान्स की आवश्यकता होती है। अक्सर हम रिचार्ज प्लान्स पर ध्यान देते हैं, लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि आपके स्मार्टफोन को चार्ज करने में कितनी बिजली की खपत होती है? आइए इस विषय पर विस्तार से चर्चा करते हैं।

बिजली खपत की गणना

स्मार्टफोन की चार्जिंग में बिजली खपत (Electricity Consumption) का अनुमान लगाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं पर विचार करना होगा। जैसे कि चार्जर की क्षमता (Charger Capacity), चार्जिंग का समय (Charging Time) और फोन की बैट्री क्षमता (Battery Capacity)। आमतौर पर अधिकांश लोग दिन में लगभग 3 घंटे अपने फोन को चार्ज करते हैं। इस दौरान औसतन 0.15 KWh बिजली की खपत होती है।

विभिन्न फोन मॉडल्स में बिजली खपत

उदाहरण के लिए यदि आईफोन के 5 वॉट एडेप्टर से 1 घंटे तक चार्जिंग की जाए तो इसमें 0.005 KWh बिजली की खपत होती है। यदि इसे 3 घंटे तक चार्ज किया जाए तो खपत 0.015 KWh होती है। इस प्रकार सालाना खपत लगभग 5 यूनिट्स (Units) होती है, जो कि एक नजर में बहुत कम लगती है।

सालाना और मासिक खर्च

यदि आपके राज्य में प्रति यूनिट बिजली की दर 8 रुपये है, तो आपका सालाना खर्च सिर्फ 40 रुपये होगा, जो कि महीने के हिसाब से 3.5 रुपये के करीब होता है। यह आंकड़ा न केवल आश्चर्यजनक है बल्कि यह दिखाता है कि स्मार्टफोन चार्जिंग बिजली खपत के मामले में बहुत ही किफायती (Cost-effective) है।

चार्जिंग के दौरान ऊर्जा की बचत

इस विश्लेषण से यह भी पता चलता है कि स्मार्टफोन चार्जिंग के दौरान ऊर्जा की बचत (Energy Saving) कैसे की जा सकती है। फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी (Fast Charging Technology) का उपयोग करना, चार्जिंग समय को कम करने में मदद कर सकता है, जिससे बिजली की खपत में और भी कमी आएगी।