home page

बारिश, धूप और तेज गर्मी के मुकाबले फिर कोहरे में कैसे स्लो हो जाती है ट्रेन स्पीड, ट्रेन में हर रोज सफर करने वाले भी नही जानते ये असली कारण

भारतीय रेलवे (Indian Railways) प्रतिवर्ष ठंड के मौसम में एक आवर्ती समस्या से जूझता है - ट्रेनों का विलंब (Train Delay). विशेषकर जब नवंबर के महीने में कोहरा (Fog) अपनी चादर फैलाना शुरू करता है.
 | 
Why does fog slow down the speed of trains

भारतीय रेलवे (Indian Railways) प्रतिवर्ष ठंड के मौसम में एक आवर्ती समस्या से जूझता है - ट्रेनों का विलंब (Train Delay). विशेषकर जब नवंबर के महीने में कोहरा (Fog) अपनी चादर फैलाना शुरू करता है, तब यह समस्या और भी गंभीर हो जाती है।

पिछले नवंबर माह में ही उत्तर रेलवे ने एहतियातन 62 ट्रेनों को रद्द (Cancelled Trains) कर दिया था और 46 ट्रेनों के मार्ग को छोटा कर दिया गया था, ताकि जरूरी सेवाओं को बिना बाधा पहुँचाए जा सके।

कोहरे की चुनौती

कोहरे के कारण विजिबिलिटी (Visibility) में कमी आ जाती है, जिससे ट्रेनों के पायलटों को सिग्नल (Signal) देखने में कठिनाई होती है। यह न केवल यात्री सुरक्षा के लिहाज से चिंताजनक है बल्कि ट्रेनों के संचालन में भी एक बड़ी बाधा उत्पन्न करती है। आमतौर पर ट्रेनों को सिग्नलों के अनुसार चलाया जाता है, लेकिन कोहरे की स्थिति में जब पायलट को सिग्नल दिखाई नहीं देते, तो उन्हें बहुत धीमी गति से चलाना पड़ता है, जिससे ट्रेनें अक्सर लेट हो जाती हैं।

समस्या की जड़

इस समस्या की मूल जड़ सिग्नल प्रणाली (Signal System) और ट्रैक पर ट्रेनों की घनत्व (Train Density) में निहित है। भारतीय रेलवे द्वारा अधिकतर ट्रेनें सिग्नल से सिग्नल के बीच चलाई जाती हैं, जिससे एक ट्रेन के लेट होने पर उसके पीछे आने वाली सभी ट्रेनें भी प्रभावित होती हैं।

संभावित समाधान

यदि रेलवे एब्सोल्यूट ब्लॉक सिस्टम (Absolute Block System) को अपना ले, जहाँ दो स्टेशनों के बीच एक समय में केवल एक ही ट्रेन चलाई जा सकती है, तो इससे ट्रेनों को अधिकतम गति से चलाने की अनुमति मिल सकती है। इससे न केवल यात्रा समय में कमी आएगी बल्कि सुरक्षा मानकों में भी सुधार होगा। हालाँकि इसके लिए व्यापक स्तर पर तकनीकी और प्रशासनिक बदलावों की आवश्यकता होगी।