home page

भारत के इन 5 रेल्वे स्टेशन का नाम सुनकर आपका मुंह हो जायेगा शर्म से लाल, घरवालों के सामने की पढ़ने की मत कर देना भूल

रेलवे को भारत की लाइफलाइन कहा जाए तो गलत नहीं होगा। सबसे अधिक आबादी कहीं जाने के लिए रेलवे पर निर्भर है
 | 
weird names of indian railway station

रेलवे को भारत की लाइफलाइन कहा जाए तो गलत नहीं होगा। सबसे अधिक आबादी कहीं जाने के लिए रेलवे पर निर्भर है। भारत विश्व में चौथी सबसे बड़ी रेल नेटवर्क है, इसलिए बिना ट्रेनों के यहाँ काम नहीं चल सकता है।

रेल यात्रा करते समय आपने अक्सर पीले बोर्ड पर काले अक्षरों में लिखे कई स्टेशनों के नाम पढ़े होंगे। उनमें से कई का नाम इतिहास में दर्ज है; कुछ अच्छे हैं, कुछ अजीब, तो कुछ मजेदार हैं, और कुछ इतने शर्मनाक हैं कि कोई भी उनका नाम नहीं लेना चाहता।

नाम, चाहे वह इंसान का हो, जानवर का हो या स्थान का हो, बहुत सोच-समझकर रखा जाता है क्योंकि नाम ही उनकी पहचान बन जाता है। फिर भी कुछ नाम पुकारना शर्मनाक लगता है जाकर भी कोई उन नामों को बोलना नहीं चाहता बात भारत में ऐसे अजीब रेलवे स्टेशनों की है जिनके नाम सुनकर लोग हंसते हैं।

कुत्ता स्टेशन

उत्तर भारत के लोग शायद इस नाम को जानते होंगे। कुत्ता रेलवे स्टेशन कर्नाटक राज्य के छोटे से गांव गुट्टा में है, जो कुर्ग के किनारे बसा है. यहां की प्राकृतिक सुंदरता आपको रोमांचित कर देगी।

हलकट्टा स्टेशन

ये भी कर्नाटक में हैं। जो सेवालाल नगर वाडी शहर के करीब है। हर दिन ढेरों ट्रेनें यहाँ से गुजरती हैं। यह जगह अपनी प्राकृतिक सुंदरता और घने जंगलों के चलते लोगों को आकर्षित करती है।

फफूंद स्टेशन

फंफूद का स्थान उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में है। यह PHD कोड वाले भारत का टॉप क्लास स्टेशन है। ब्रिटिश काल में इस स्टेशन का निर्माण हुआ था। जो प्रयागराज रेलवे डिवीज़न का कानपुर-दिल्ली खंड का एक प्रमुख स्टेशन है।

टिटवाला स्टेशन

मुंबई के सेंट्रल लाइन का ऐसा स्टेशन जो कल्याण और कसाना के बीच है। यह रेलवे स्टेशन आजादी से पहले बनाया गया था। जो खडावली और अंबिवली रेलवे स्टेशन के बीच में है।

कामागाटा मारू बज बज स्टेशन

यह स्टेशन दक्षिणी भारतीय रेलवे क्षेत्र में सियालदह रेलवे डिवीजन में है। बज बज शाखा लाइन पर कोलकाता उपनगरीय रेलवे स्टेशन है।

पनौती स्टेशन

इस नाम पर हंसने की वजह बताने की जरूरत नहीं है। न्यू रेलवे स्टेशन के कारण स्थानीय लोगों को पनौती कहते हैं। लेकिन बेचारे कुछ भी नहीं कर सकते है। पनौती उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में एक छोटा सा गांव है जहां बहुत कम लोग रहते हैं।