home page

अपने फोन में भूलकर भी मत करना ये 5 ऐप्स इंस्टॉल, पैसे कमाने का लालच देकर बैंक खाता कर देंगे खाली

आज के डिजिटल युग में जहां ऑनलाइन लेनदेन (Online Transactions) की सुविधाओं ने हमारे जीवन को सरल बना दिया है.
 | 
online scam fraud 5 apps bank

आज के डिजिटल युग में जहां ऑनलाइन लेनदेन (Online Transactions) की सुविधाओं ने हमारे जीवन को सरल बना दिया है, वहीं साइबर अपराध (Cyber Crime) और ऑनलाइन फ्रॉड (Online Fraud) जैसी समस्याएँ भी बढ़ गई हैं।

सरकार ने इस गंभीर समस्या को रोकने के लिए निरंतर नए कदम उठाए हैं। इस प्रयास में साइबर क्राइम पुलिस (Cyber Crime Police) ने लोगों को इस विषय में जागरूक करने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी और पब्लिक एडवाइजरी (Public Advisory) जारी की है।

ऑनलाइन ट्रेडिंग स्कैम का खुलासा

वर्तमान में चल रहे अनेक स्कैम (Scams) में से ऑनलाइन ट्रेडिंग स्कैम (Online Trading Scam) प्रमुख है। स्कैमर्स (Scammers) व्हाट्सऐप (WhatsApp) और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Social Media Platforms) का उपयोग करके पीड़ितों को टारगेट करते हैं। उन्हें फ्री ट्रेडिंग टिप्स (Free Trading Tips) देने का लुभावना विज्ञापन भेजा जाता है, जिसके माध्यम से स्कैमर्स निवेश (Investment) संबंधित विभिन्न टिप्स प्रदान करते हैं।

पीड़ितों के साथ धोखाधड़ी

पीड़ितों का विश्वास जीतने के बाद स्कैमर्स उन्हें विशेष ऐप्स (Apps) इंस्टॉल करने को कहते हैं, जो वास्तव में मोबाइल हैकिंग (Mobile Hacking) का माध्यम बनती हैं। इन ऐप्स के माध्यम से स्कैमर्स पीड़ितों की व्यक्तिगत जानकारी (Personal Information) हासिल कर लेते हैं। पुलिस ने INSECG, CHS-SES, SAAI, SEQUOIA, और GOOMI जैसे ऐप्स की पहचान की है, जो SEBI (Securities and Exchange Board of India) के तहत रजिस्टर्ड नहीं हैं।

फर्जी मुनाफे का जाल

इन ऐप्स के जरिए स्कैमर्स डिजिटल वॉलेट (Digital Wallet) में फेक मुनाफा (Fake Profit) दिखाते हैं और पीड़ितों को और अधिक पैसे निवेश करने के लिए उकसाते हैं। जब पीड़ित मुनाफा निकालने का प्रयास करते हैं, तो उन्हें बताया जाता है कि यह केवल एक निश्चित राशि (Specific Amount) तक पहुंचने पर ही संभव है, जिससे वे और अधिक निवेश करते रहें।

सावधानी और सुरक्षा के उपाय

साइबर अपराधों से बचने के लिए सरकार और पुलिस द्वारा जारी की गई पब्लिक एडवाइजरी का पालन करके इस तरह के फ़्रॉड कामों से बचाव हो सकता है.