home page

Delhi NCR New Metro Line: 2992 करोड़ की लागत से दिल्ली में इस जगह बिछाई जाएगी नई मेट्रो लाइन, इन जगहों के बीच कनेक्टिविटी हो जाएगी तेज

मेट्रो यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। अब आपका ग्रेटर नोएडा या ग्रेनो वेस्ट जाने का सफर और भी आसान हो जाएगा
 | 
This project is being built in Delhi at a cost of Rs 2992 crore.

मेट्रो यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। अब आपका ग्रेटर नोएडा या ग्रेनो वेस्ट जाने का सफर और भी आसान हो जाएगा। नोएडा में एक और नया मेट्रो कॉरिडोर बनाया जाएगा। यह नोएडा सेक्टर 51 से Science Park-5 तक बनाया जाएगा। इस नई मेट्रो लाइन पर दस स्टेशन होंगे।

सोमवार को, नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (NMRC) ने एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (DPR) को मंजूरी दी, जिसमें दिल्ली मेट्रो की ब्लू लाइन पर एक इंटरचेंज स्टेशन और नोएडा एक्सटेंशन तक अपने नेटवर्क का विस्तार शामिल है। DMRC और NMRC एक्वा लाइन को सेक्टर 61 पर जोड़ा जाएगा।

2991.60 करोड़ रुपये खर्च होंगे

NMRC के प्रबंध निदेशक लोकेश एम ने बताया कि योजना में 2991.60 करोड़ रुपये की लागत से 17.43 किलोमीटर की दूरी पर ग्यारह स्टेशन प्रस्तावित हैं।

मेट्रो का मार्ग क्या होगा?

  • नोएडा सेक्टर - 51
  • नोएडा सेक्टर - 61
  • नोएडा सेक्टर - 70
  • नोएडा सेक्टर - 122
  • नोएडा सेक्टर - 123
  • ग्रेटर नोएडा सेक्टर - 4
  • इको टेक -12
  • ग्रेटर नोएडा सेक्टर - 2
  • ग्रेटर नोएडा सेक्टर - 3
  • ग्रेटर नोएडा सेक्टर - 10
  • ग्रेटर नोएडा सेक्टर - 12
  • ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क-V

मिलेगा कनेक्टिविटी लाभ

इस नए मेट्रो कॉरिडोर से नोएडा वेस्ट और ग्रेटर नोएडा के लाखों लोगों को राहत मिलेगी। NMRC के प्रबंध निदेशक लोकेश ने कहा कि इस कनेक्टिविटी से नोएडा, ग्रेटर नोएडा वेस्ट और ग्रेटर नोएडा में रहने वाले लोगों को सीधी कनेक्टिविटी का फायदा मिलेगा।

वरिष्ठ IAS अधिकारी, जो नोएडा प्राधिकरण के सीईओ भी हैं, ने बताया कि आज NMRC बोर्ड ने इस परियोजना को DPR को मंजूरी दे दी है। भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार की मंजूरी के लिए DPR अब आगे भेजा जाएगा।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में रह रहे लाखों परिवार

नोएडा एक्सटेंशन (पूर्व में ग्रेटर नोएडा वेस्ट कहा जाता था) अब लाखों लोग वहां बस गए हैं। यहां लाखों लोगों के घर हैं, लेकिन यहाँ पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट की अभी भी समस्या है।यहाँ पे पहले रेलवे कनेक्टिविटी और बस सुविधा के लिए प्रदर्शन किए गए थे।