home page

UP के इन 4 शहरों में बनाए जाएंगे एयरपोर्ट जैसी सुविधाओं वाले बस स्टैंड, इन जिलों के लोगों की हो जाएगी तगड़ी मौज

रीयल एस्टेट सेक्टर की दिग्गज कंपनी ओमैक्स लि. ने लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चार शहरों में बस अड्डों को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित करने की घोषणा की है।
 | 
bus-ports-will-be-built-on-the-lines

रीयल एस्टेट सेक्टर की दिग्गज कंपनी ओमैक्स लि. ने लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चार शहरों में बस अड्डों को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित करने की घोषणा की है। इन अत्याधुनिक बस अड्डों को 'बसपोर्ट' (Busport) के नाम से जाना जाएगा, जो यात्रियों को विश्वस्तरीय सुविधाएँ प्रदान करेंगे। 

रीयल एस्टेट सेक्टर की संभावनाएं 

ओमैक्स के युवा प्रबंध निदेशक मोहित गोयल (Mohit Goel) ने बताया कि रीयल एस्टेट सेक्टर (Real Estate Sector) नोटबंदी, GST, कोविड और RERA के झटकों से उबर चुका है और अब यह सेक्टर यूपी में तेजी से विकास कर रहा है। इस वजह से यूपी में इस सेक्टर पर सभी का ध्यान केंद्रित है। (Keywords: मोहित गोयल, रीयल एस्टेट, विकास)

बसपोर्ट की विशेषताएं 

लखनऊ, कौशाम्बी, गाजियाबाद, और इलाहाबाद में बनने वाले बसपोर्ट्स में एयरकंडीशनर वेटिंग लाउंज, टर्मिनल की तरह बसों की लाइव लोकेशन और रूट तथा टाइम चार्ट, फूड जंक्शन, और टिकट व्यवस्था जैसी सुविधाएं होंगी। इन बसपोर्ट्स का निर्माण सरकार के साथ PPP मॉडल पर किया जाएगा। 

यूपी का विकास और बदलाव 

मोहित गोयल ने कहा कि पहले यूपी में व्यापार करना जोखिम भरा था, लेकिन अब हालात बदल चुके हैं और यूपी तेजी से विकास करने वाला राज्य बन गया है। इस विकास ने उद्यमियों को बेखौफ होकर व्यापार करने का मौका दिया है। 

रीयल एस्टेट खरीदारों की उम्र में परिवर्तन 

घर खरीदारों की औसत आयु में बदलाव आया है। पहले जहां औसत उम्र 42 वर्ष हुआ करती थी, वह अब घटकर 36 वर्ष हो गई है। यह बदलाव रीयल एस्टेट सेक्टर में लोगों की बदलती सोच और प्राथमिकताओं को दर्शाता है। 

सिंगल विंडो सिस्टम में सुधार की आवश्यकता 

ओमैक्स के एमडी ने यूपी में बिजनेस करने की सुविधा में सुधार की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सिंगल विंडो सिस्टम (Single Window System) में और सुधार होने से रीयल एस्टेट सेक्टर 5 से 10 प्रतिशत तक और आगे बढ़ सकता है।