home page

Beer Wine: यूपी में शराब के दीवानों के लिए आई बुरी खबर, शराब की कीमतों में होगी बढ़ोतरी

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में शराब के शौकीनों के लिए नई आबकारी नीति (New Excise Policy) लागू की गई है,
 | 
bad-news-for-liquor-enthusiasts-in-up-government

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में शराब के शौकीनों के लिए नई आबकारी नीति (New Excise Policy) लागू की गई है, जिससे अंग्रेजी शराब (English Liquor), बियर (Beer) और भांग की कीमतों में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी। यह बढ़ोतरी 1 अप्रैल 2024 से प्रभावी होगी, जिससे शराब की कीमतों में उल्लेखनीय बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।

लाइसेंस फीस में बढ़ोतरी और नई व्यवस्थाएं

शराब की दुकानों (Liquor Shops) के लिए लाइसेंस फीस में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ-साथ कई नए नियम भी लागू किए गए हैं। अब ओकेजनल लाइसेंस (Occasional License) केवल 12 घंटे के लिए ही वैध होंगे और बीयर की दुकानों के बगल में खाली पड़े स्थान का उपयोग मॉडल शॉप (Model Shop) के रूप में किया जा सकेगा।

पुलिस की मनमानी पर रोक

आबकारी नीति में बदलाव के साथ ही पुलिस की मनमानी पर भी रोक लगाई गई है। अब पुलिस को निरीक्षण और चेकिंग (Inspection and Checking) के लिए आबकारी विभाग (Excise Department) से अनुमति लेनी होगी, जिससे व्यापारियों को काफी हद तक राहत मिलेगी।

देसी मदिरा की दुकानों में बढ़ोतरी

देसी मदिरा (Country Liquor) की दुकानों की बेसिक लाइसेंस फीस में बढ़ोतरी की गई है, जिससे इसकी कीमतों में भी बढ़ोतरी हो सकती है। इसके साथ ही अंग्रेजी शराब की लाइसेंस फीस (Liquor License Fee) और रेनूअल (renewal) फीस में भी बढ़ोतरी की गई है।

विदेशी शराब नीति में संशोधन

विदेशी शराब (Foreign Liquor) की नीति में भी महत्वपूर्ण संशोधन किए गए हैं। रेगुलर 90 एमएल की आपूर्ति को समाप्त करने का प्रस्ताव है, जिससे शराब की खपत में परिवर्तन हो सकता है।

उपभोक्ताओं की जेब पर असर

नई आबकारी नीति से उत्तर प्रदेश में शराब के दामों में बढ़ोतरी होगी, जिसका सीधा असर उपभोक्ताओं की जेब (Consumer's Pocket) पर पड़ेगा। शराब की महंगाई से उपभोक्ताओं की खरीद पैटर्न में भी बदलाव आ सकता है।

व्यापारियों के लिए नई चुनौतियां

नई आबकारी नीति व्यापारियों (Traders) के लिए नई चुनौतियां लेकर आई है। लाइसेंस फीस में बढ़ोतरी और नए नियमों का पालन करना उन्हें मजबूर करेगा अपने व्यवसाय को नए सिरे से आयोजित करने के लिए।