home page

भारी भरकम समुद्री जहाज आखिर किस कारण पानी में नही डूबता, इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण जानकर तो आप भी करेंगे सैल्युट

अक्सर जब हम समुद्र में विशालकाय जहाजों (Gigantic Ships) को आसानी से तैरते हुए देखते हैं, तो हमारे मन में एक स्वाभाविक प्रश्न उत्पन्न होता है कि आखिर ये इतने भारी जहाज पानी में कैसे तैर सकते हैं?
 | 
why ships do not sink in water

अक्सर जब हम समुद्र में विशालकाय जहाजों (Gigantic Ships) को आसानी से तैरते हुए देखते हैं, तो हमारे मन में एक स्वाभाविक प्रश्न उत्पन्न होता है कि आखिर ये इतने भारी जहाज पानी में कैसे तैर सकते हैं? इस आश्चर्यजनक प्रश्न का उत्तर विज्ञान (Science) के अर्किमिडीज के सिद्धांत (Archimedes' Principle) में छुपा है।

जहाजों के तैरने का वैज्ञानिक कारण

अर्किमिडीज के सिद्धांत के अनुसार पानी में डूबी हुई किसी भी वस्तु पर ऊपर की ओर लगने वाला कुल बल उस वस्तु द्वारा हटाए गए पानी के भार के बराबर होता है। इस सिद्धांत के आधार पर जहाजों को डिजाइन (Design) किया जाता है ताकि वे पानी की सतह पर तैर सकें। जहाजों में हवा के खाली स्थान (Air Spaces) होते हैं जो उन्हें पानी की सतह पर तैरने में सहायता प्रदान करते हैं।

जहाज कैसे चलते हैं?

जहाजों का संचालन (Operation) उनके इंजन, पैडल व्हील, मशीनों और प्रोपेलरों (Propellers) द्वारा किया जाता है, जो पानी के दवाब को ऊपर करके जहाज को गति प्रदान करते हैं। जहाजों का डिजाइन इस प्रकार किया जाता है कि वे पानी के अंदर हवा के कम घनत्व का लाभ उठा सकें और सतह पर आसानी से तैर सकें।

टाइटैनिक की दुर्घटना

टाइटैनिक जहाज की दुर्घटना (Titanic Tragedy) ने साबित कर दिया कि अगर जहाज में छेद हो जाए या इसमें लिमिट से अधिक पानी भर जाए, तो इसका वजन बढ़ जाने के कारण वह डूब सकता है। इस तरह की दुर्घटना जहाज के रास्ता नहीं ढूंढ पाने और अतिरिक्त पानी के भार से होती है।

जहाजों का निर्माण

जहाजों का निर्माण (Construction of Ships) विज्ञान और तकनीकी प्रगति (Scientific and Technological Advancements) का एक चमत्कार है। यह हमें दिखाता है कि कैसे मानव ने अपनी बुद्धिमत्ता और वैज्ञानिक समझ का उपयोग करके समुद्रों को जीत लिया है। जहाजों का सफलतापूर्वक पानी में तैरना और यात्रा करना इस बात का प्रमाण है कि विज्ञान के सिद्धांतों का प्रयोग करके हम प्रकृति के नियमों को अपने पक्ष में कर सकते हैं।