home page

शराब की दुकानों में अब लोकल लोगों को दी जाएगी नौकरी, स्पेशल यूनिफार्म में ID कार्ड लगाकर करेंगे ड्यूटी

छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड (CSMCL) ने प्रदेश की सरकारी शराब दुकानों (Government Liquor Shops) में व्यापक बदलावों की घोषणा की है।
 | 
chhattisgarh news in hindi

छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड (CSMCL) ने प्रदेश की सरकारी शराब दुकानों (Government Liquor Shops) में व्यापक बदलावों की घोषणा की है। इस पहल का उद्देश्य शराब बिक्री से जुड़े कार्यवाही में पारदर्शिता (Transparency) और नैतिकता (Ethics) को बढ़ावा देना है।

कर्मचारियों का वेरिफिकेशन और स्थानीय निवासियों की नियुक्ति

आबकारी कमिश्नर आर संगीता (Excise Commissioner A R Sangeeta) ने शराब दुकानों में काम करने वाले कर्मचारियों के नए सिरे से वेरिफिकेशन (Verification) के निर्देश दिए हैं। साथ ही इन दुकानों में छत्तीसगढ़ के स्थानीय निवासियों (Local Residents) को ही नियुक्त करने का आदेश दिया गया है, जिससे स्थानीय रोजगार (Local Employment) को बढ़ावा मिलेगा।

ब्लैक लिस्टेड कर्मचारियों पर कार्रवाई

बैठक में यह भी निर्देशित किया गया कि ब्लैक लिस्टेड (Blacklisted) कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से सेवा से हटाने और उन पर कार्रवाई करने की आवश्यकता है। इसके अलावा कर्मचारियों को ग्राहकों के साथ उचित व्यवहार (Proper Behaviour) करने और ग्राहकों की डिमांड के अनुसार ही शराब बेचने की सलाह दी गई है।

सुरक्षा और पारदर्शिता के उपाय

आबकारी कमिश्नर ने सीसीटीवी कैमरे (CCTV Cameras), स्टॉक मेंटेन रजिस्टर (Stock Maintenance Register), और खाली कार्टून को सुरक्षित रखने के आदेश भी दिए हैं। इससे शराब दुकानों में अवैध गतिविधियों (Illegal Activities) को रोकने में मदद मिलेगी।

अनुपालन और कड़ी कार्यवाही

ड्यूटी के वक्त नदारद रहने वाले कर्मचारियों और मिलावटी या अवैध शराब (Adulterated or Illegal Liquor) बेचने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। आबकारी विभाग ने सख्त निर्देश दिए हैं कि किसी भी प्रकार की अनुचित गतिविधियों में संलिप्त कर्मचारियों के खिलाफ गैर-जमानती अपराध (Non-Bailable Offence) दर्ज किए जाएंगे।