Warning: Undefined variable $id in /home/dharataltv/public_html/wp-content/themes/gp-sports-pro/functions.php on line 21

Warning: Undefined variable $id in /home/dharataltv/public_html/wp-content/themes/gp-sports-pro/functions.php on line 22

Warning: Undefined array key "gpDynamicDateType" in /home/dharataltv/public_html/wp-content/themes/gp-sports-pro/functions.php on line 24

मध्य प्रदेश के इन स्कूलों में बच्चों को फ्री में बांटी जाएगी ये चीजें, जाने सरकार का नया प्लान

By Vikash Beniwal

Published on:

मध्यप्रदेश सरकार ने सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए एक बड़ी खुशखबरी दी है। अब बच्चों को सरकार द्वारा बुनियादी वस्तुएं जैसे जूते-मोजे और बैग भी प्रदान किए जाएंगे। यह योजना बच्चों की शिक्षा में सुधार और उनकी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है।

बजट का प्रबंधन

सरकार इस नई योजना के लिए बजट का गणित बैठा रही है। बजट की योजना बनाई जा रही है ताकि नए शैक्षणिक सत्र में बच्चों को यह सौगात दी जा सके। मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पहले से ही मिड डे मील, किताबें और दो जोड़ी ड्रेस दी जाती हैं। बच्चियों को साइकिल भी दी जाती है, और अब जूते-मोजे और बैग देने की योजना बनाई जा रही है।

सरकारी स्कूलों की संख्या

मध्यप्रदेश में 94 हजार से ज्यादा सरकारी स्कूल हैं जिनमें 63 लाख से ज्यादा बच्चे पढ़ते हैं। इन स्कूलों में कक्षा एक से आठवीं तक के विद्यार्थियों को दो जोड़ी ड्रेस दी जाती हैं। साढ़े चार लाख बच्चियों को साइकिल भी दी जाती है। अब इस योजना के तहत बच्चों को जूते-मोजे और बैग भी मिलेंगे।

स्कूल शिक्षा विभाग की योजना

स्कूल शिक्षा विभाग इस नई योजना के लिए कार्ययोजना बना रहा है। अधिकारियों ने बताया कि जल्द ही यह योजना मूर्तरूप ले लेगी। फिलहाल बजट का गुणाभाग किया जा रहा है। 13 फरवरी को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की अगुआई वाली सरकार ने सदन में लेखानुदान यानी अंतरिम बजट पेश किया था। इसमें स्कूल शिक्षा विभाग के लिए करीब 13 हजार करोड़ का बजट रखा गया था।

सटीक संख्या के लिए एडमिशन का इंतजार

सरकार अब जुलाई में होने वाले मानसून सत्र में पूर्ण बजट पेश करेगी। इस बार बजट सवा तीन लाख करोड़ रुपए से अधिक का हो सकता है। इसमें स्कूल शिक्षा विभाग के बजट में सरकार स्कूलों के बच्चों को जूते-मोजे और बैग देने के लिए भी राशि आवंटित करेगी। नए शैक्षणिक सत्र में प्रवेश के बाद बच्चों की सटीक संख्या का पता चल जाएगा, जिससे योजना को प्रभावी ढंग से लागू किया जा सकेगा।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.