इस फसल की खेती से यूपी के किसान की बदल गई किस्मत, कुछ ही दिनों में कर डाली लाखों की कमाई

By Vikash Beniwal

Published on:

यदि आप खेती के माध्यम से कम समय में अच्छी कमाई की तलाश में हैं तो खरबूजा एक उत्तम ऑप्शन साबित हो सकता है। इसकी खेती कम लागत में की जा सकती है और यह ज्यादा आय का स्रोत भी बन सकता है। खरबूजा जिसे कुछ स्थानीय इलाकों में ‘लालमी’ के नाम से भी जाना जाता है एक सीजनल फल है जो कि स्वास्थ्यवर्धक भी होता है और इसे कच्चे तथा पके हुए दोनों रूपों में उपयोग किया जा सकता है।

खरबूजे की खेती की प्रक्रिया

वैशाली जिले के किसान संजय सहनी के अनुसार जिन्होंने पिछले दस वर्षों से इस फसल की खेती की है खरबूजा के बीज जनवरी माह में बोए जाते हैं। इसकी खेती में ज्यादा झंझट नहीं होती और यह फल अप्रैल के अंत तक तैयार हो जाता है। खरबूजे की खेती से जुड़े खर्च और लाभ दोनों ही संतोषजनक होते हैं।

खरबूजे की खेती का आर्थिक पहलू

संजय ने बताया कि पांच एकड़ में खरबूजे की खेती करने में प्रति एकड़ लगभग 10 हजार रुपए का निवेश होता है। अच्छी फसल होने पर इससे प्रति एकड़ 50 से 60 हजार तक की आय हो सकती है। बाजार में खरबूजे की कीमत लगभग 25 रुपए प्रति किलो होती है, जिससे किसानों को अच्छा लाभ मिलता है।

संजय सहनी का अनुभव और सलाह

संजय कहते हैं कि पारंपरिक फसलों की तुलना में नगदी फसलों की खेती अधिक लाभकारी है। उनका मानना है कि मौसम के अनुसार नगदी फसलों की खेती से वर्षभर नियमित आय होती है। वे किसानों को सलाह देते हैं कि वे भी खरबूजे जैसी फसलों की ओर ध्यान दें जो कम समय में अधिक आय प्रदान करती हैं।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.